किसान रेल योजना 2021: Kisan Rail Yojana, ऑनलाइन बुकिंग, ट्रैन लिस्ट, रजिस्ट्रेशन

0
किसान रेल योजना

Kisan Rail Yojana Online Booking | किसान रेल योजना ऑनलाइन बुकिंग | किसान रेल योजना ट्रैन लिस्ट | Kisan Rail Yojana Registration

किसान रेल योजना 2021 की घोषणा केंद्र सरकार द्वारा  फरवरी में पेश होने वाले बजट में ही कर दी गई थी। इस योजना को केंद्र सरकार और भारतीय रेलवे के द्वारा देश के किसानो को लाभ पहुंचाने के लिए  7 अगस्त 2020 को पूर्ण रूप से शुरू कर दिया गया है। इस योजना के अंतर्गत किसानो के लिए रेलगाड़िया चलायी जाएगी। जो सब्जी, फल या अन्य कृषि उत्पाद जल्दी ही खराब हो जाते हैं उनको किसान रेल सेवा के माध्यम से  उनके गंतव्य स्थान अथवा मंडियों तक पहुंचाया जायेगा। इससे सब्जियों और फलो को ख़राब होने से बचाया जा सकेंगे प्यारे दोस्तों आज हम अपने इस आर्टिकल के माध्यम से इस Kisan Rail Yojana से जुड़ी सभी जानकारी जैसे ऑनलाइन बुकिंग, ट्रैन लिस्ट, रजिस्ट्रेशन आदि आपके साथ साझा करने जा रहे है अतः हमारे इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े। और योजना का लाभ उठा उठाये।

Kisan Rail Yojana 2021

इस योजना के अंतर्गत भारतीय रेलवे ने  7 अगस्त को पहली ट्रैन चला रही है। रेलवे ने बृहस्पतिवार को कहा कि ऐसी पहली रेलगाड़ी महाराष्ट्र के देवलाली से बिहार के दानापुर के बीच चलायी जा रही है।यह ट्रेन सुबह 11 बजे महाराष्ट्र के देवलाली स्टेशन से रवाना हुई और बिहार के दानापुर स्टेशन तक जाएगी।  किसान रेल इन दो स्टेशनों के बीच लगभग 1519 किमी का सफर करीब 32 घंटे में तय करेगी.इस सार्वजनिक निजी भागीदारी (पीपीपी) योजना के तहत  किसान ट्रैन में शीत भंडारण के साथ किसान उपज के परिवहन की व्यवस्था होगी। इससे किसानो का काफी फायदा होगा। केंद्र सरकार की किसानो के हित के लिए एक बहुत अच्छी पहल है। देश के जो इच्छुक लाभार्थी किसान Kisan Rail Yojana 2021 का लाभ उठाना चाहते है तो उन्हें किसान रेल योजना ऑनलाइन बुकिंग  करने के लिए रजिस्ट्रेशन करना होगा।

किसान रेल योजना

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना

किसान रेल योजना 100वी किसान रेल रवाना हुई

7 अगस्त 2020 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा किसान रेल योजना का आरंभ किया गया था। इस योजना के अंतर्गत किसानों की फसलों को दूसरे राज्य की मंडी तक पहुंचाने के लिए ट्रेन की सुविधा प्रदान की जा रही है। 28 दिसंबर 2020 को इस योजना के अंतर्गत 100वी रेल पश्चिम बंगाल के शालीमार के लिए महाराष्ट्र के संगोला से रवाना हुई। इस रेल को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा हरी झंडी दिखाई गई। केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल द्वारा ट्वीट कर कहा गया कि किसान रेल सेवा के माध्यम से किसानों की आमदनी बढ़ेगी और खेती से जुड़ी अर्थव्यवस्था में बड़ा बदलाव आएगा। प्रधानमंत्री जी द्वारा किसान रेल को हरी झंडी दिखाते हुए सभी किसानों को बधाई दी गई।

  • यह रेल खेती के लिए पूरी तरह से समर्पित है। इस रेल के माध्यम से पश्चिम बंगाल के किसानों, पशुपालकों, मछुआरों की पहुंच मुंबई, पुणे, नागपुर जैसे बड़े बड़े बाजारों तक पहुंचेगी। इस मौके पर प्रधानमंत्री जी द्वारा बताया गया कि हमारे देश में भंडारण और कोल्ड स्टोरेज की कमी से किसानों को बहुत नुकसान हुआ है। सरकार द्वारा अब भंडारण और सप्लाई चैन के आधुनिकरण पर काम किया जा रहा है तथा सरकार ने इस पर निवेश भी किया है।
  • अब इस किसान रेल के माध्यम से हमारे देश के किसान दूसरे राज्यों में भी अपनी फसल भेज सकेंगे। जिससे कि उनकी आमदनी में बढ़ोतरी होगी। इस सुविधा के माध्यम से देश की सप्लाई चैन में भी बढ़ोतरी होगी। किसान रेल एक कोल्ड स्टोरेज का भी काम करती है। इस रेल में कोई भी जल्दी खराब होने वाली चीज एकदम सुरक्षित रहेगी।

Kisan Rail Scheme 2021 Highlights

योजना का नाम किसान रेल योजना
इनके द्वारा शुरू की गयी केंद्र सरकार द्वारा
लाभार्थी देश के किसान भाई
उद्देश्य किसानो को फसलों को मंडी तक पहुंचाने के लिए ट्रैन की सुविधा प्रदान करना

किसान रेल योजना नई अपडेट

हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा किसानो को और अधिक राहत पहुंचाने के लिए इस योजना के अंतर्गत एक नई घोषणा की है।इस योजना के अंतर्गत किसानो को रेल के किराय में 50 % की सब्सिडी प्रदान करने का फैसला केंद्र सरकार द्वारा किया गया है। इस योजना को किसानो को दी जाने वाली 50 % की सब्सिडी की प्रक्रिया को 14 अक्टूबर से शुरू की गयी है। इस योजना के तहत किसानो को केवल रेल भाड़े का केवल 50 %ही देना होगा बाकि 50 % खाद्य प्रसंस्करण उधोग मंत्रालय द्वारा रेल मत्रालय को किया जायेगा। यह सब्सिडी खाद्य प्रसंस्करण उधोग मंत्रालय द्वारा अधिसूचित फलो और सब्जियों के परिवहन पर ही प्रदान की जाएगी।


किन वस्तुओ पर सब्सिडी दी जाएगी

  • फल – आम ,केला ,अमरुद , कीवी, लीची, पपीता ,मौसमी ,संतरा ,किन्नू , निम्बू ,अन्नानास , अनार , कटहल ,सेब, आवला ,नाशपाती आदि
  • सब्जिया – फ्रेंच बीन्स , करेला ,बेंगन , शिमला मिर्च ,गाजर , फूलगोभी , हरी मिर्च , ओकरा , ककड़ी, मटर , लहसुन ,प्याज़ , आलू ,टमाटर आदि

किसान रेल योजना 2021 का उद्देश्य

जैसे की आप सभी लोग जानते है कि पुरे भारत देश में कोरोना वायरस महामारी दिन प्रतिदिन बढ़ती ज रही है जिसकी वजह से देश के सभी नागरिको को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है और खास कर के देश के किसानो को अपने फसलों को बहार बेचने में काफी परेशानी हो रही है किसान समय से अपने फसलों को मंडी तक नहीं पंहुचा पा रहे है इसी समस्या को देखते हुए केंद्र सरकार ने किसान रेल योजना को आरम्भ किया है। इस ट्रैन के माध्यम से किसान अपनी सब्जी ,फलो को समय से सुरक्षित मंडी तक पंहुचा सकेंगे। इस योजना के ज़रिये किसानों को उनकी फसल का अच्छा फायदा मिल सके। इससे किसानो की आय में बढ़ोतरी होगी। जिससे वह इन लॉक डाउन के समय के अपना अच्छे से जीवन यापन कर सकेंगे।

किसान सम्मान निधि योजना लिस्ट

Kisan Train Scheme 2021 के मुख्य तथ्य

  • इस योजना के तहत किसानो की फसलों जैसे अनाज , फल , सब्जिया आदि को समय से सुरक्षित ट्रैन के माध्यम से मंडी ,बाजार तक पंहुचा सकते है।
  • वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस साल फरवरी में पेश बजट में जल्दी खराब होने वाले फल एवं सब्जियों जैसे उत्पादों के मालवहन के लिए किसान रेल’ चलायी गयी है।
  • किसान रेल एक तरह की स्पेशल पार्सन ट्रेन होगी जिसमे अनाज, फल और सब्जियों को लाने ले जाने के लिए इस्तेमाल किया जा सकेगा।
  • केंद्र सरकार  ने वर्ष 2022  तक किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य रखा है।
  • इस योजना के तहत शीत भंडारण (Cold Storage) के साथ किसान उपज के परिवहन की भी अच्छी व्यवस्था की जाएगी।
  • पहली किसान रेल रूट पर पड़ने वाले चार राज्यों महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश और बिहार को इस किसान रेल का फायदा होगा।

किसान  ट्रैन रूट

देवलाली से चलने के बाद यह ट्रेन नासिक रोड़, मनमाड़, जलगांव, भुसावल, बुरहानपुर, खंडवा, इटारसी, जबलपुर, सतना, कटनी, मणिकपुर, प्रयागराज, पं दीनदयाल उपाध्याय नगर और बक्सर  से दानापुर में रुकेगी। किसान रेल ताजी सब्जियों, फलों, फूल, प्याज तथा अन्य कृषि इन उत्पादों को गंतव्य तक पहुंचाने का काम करेगी।7 अगस्त से शुरू हुई ये विशेष ट्रेन 20 अगस्त तक हर शुक्रवार को देवलाली से दानापुर के लिए चलेंगी और हर रविवार को दानापुर से देवलाली के लिए चलेगी। इससे ट्रेन से महाराट्र, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश और बिहार के किसानों को फायदा होगा।

किसान रेल का प्रति टन किराया

किसान रेल के माध्यम से किसान फल, सब्जियां, दूध आदि कम समय में मंडियों तक पहुंचा सकते हैं। इस योजना का लाभ उठाने के लिए किसानों को प्रति टन के हिसाब से किराया भरना होगा जो कि कुछ इस प्रकार है।

  • खंडवा से दानापुर- Rs 3148/- प्रति टन
  • बुरहानपुर से दानापुर- Rs 3323/- प्रति टन
  • भुसावल से दानापुर-  Rs 3459/- प्रति टन
  • जलगांव से दानापुर-  Rs 3513/- प्रति टन
  • मनमाड से दानापुर- Rs 3849/- प्रति टन
  • नासिक रोड से दानापुर- Rs 4001/- प्रति टन
  • देवलाली से दानापुर- Rs 4001/- प्रति टन

किसान रेल योजना 2021 ऑनलाइन बुकिंग के लिए रजिस्ट्रेशन कैसे करे ?

देश के जो इच्छुक लाभार्थी किसान इस Kisan Rail Yojana 2021 का लाभ उठाना चाहते है तो उन्हें अभी थोड़ा इंतज़ार करना होगा। क्योकि अभी इस योजना के अंतर्गत किसान रेल बुकिंग के लिए रजिस्ट्रेशन की कोई जानकारी अभी तक उपलब्ध नहीं है।  इस योजना के तहत जैसे की ऑनलाइन बुकिंग की प्रक्रिया को ऑनलाइन शुरू कर दिया जायेगा । और जैसे ही  ट्रैन लिस्ट को जारी किया जायेगा हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से बता देंगे उसके बाद आपके किसान ट्रैन के लिए ऑनलाइन आवेदन करके ट्रैन की बुकिंग कर सकते है। और किसान रेल योजना 2021 का लाभ उठा सकते है।इस योजना से जुडी अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए इस लिंक पर क्लिक कर सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here