मुंबई आतंकी हमले के दोषियों को सजा मिलनी जरूरी; अमेरिका

मुंबई में करीब 10 साल पहले हुए आतंकी हमले मैं लगभग 166 लोगों की मौत हुई थी और कई लोग घायल हुए थे इस मुम्बई आतंकी हमले के पीछे पाकिस्तान के आतंकी लश्कर-ए-तैयबा का हाथ है और यह सभी आतंकी आज भी पाकिस्तान में फ्री घूम रहे हैं

मुंबई  आतंकी हमले के दोषियों को सजा मिलनी जरूरी ;अमेरिका

समुद्र के रास्ते मुंबई तक पहुंचे गए यह 10 आतंकवादी पाकिस्तान से आए थे |और इन्होंने 26 नवंबर 2008 को ताज होटल पर आतंकी हमला किया था|जिससे 166 लोगों की मौत हुई |और कई लोग घायल भी हुए मुंबई का यह हमला भारत के इतिहास में सर्वाधिक भयानक आतंकवादी हमलों में से एक है|इस हमले में 166 लोगों की मौत हुई और 300 से अधिक लोग घायल हुए थे| 26 नवंबर 2008 को पाकिस्तान से समुद्र के रास्ते आए| 10 आतंकवादियों ने मुंबई में इस आतंकवादी हमले को अंजाम दिया था|

अमेरिकी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने जताया दुख

  • अमेरिकी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोरगन ने इस हमले की 11वीं बरसी पर ट्वीट किया है|
  • 11 साल पहले आतंकवादी की कार्रवाई में छह अमेरिकी नागरिकों समेत 160 लोगों की जान चली गई थी|
  • मोरगन ने कहा है कि ;आज हम मुंबई आतंकी हमले के पीड़ितों को याद करते हैं|
  • तो हम इस अपराध के जिम्मेदार लोगों को न्याय के कटघरे में लाने तथा उन लोगों को सजा दिला कर; 166 मृत लोगों के परिजनों की मांग को पूरा कर सकते हैं|

Read also:महाराष्ट्र में सरकार बनाने का सियासी घमासान, शिवसेना ने खटखटाया कोर्ट का दरवाजा।

  • भारतीय अमेरिकी तथा विभिन्न संगठन वाशिंगटन स्थित पाकिस्तान दूतावास के समक्ष; मुंबई आतंकी हमले में देश की भूमिका का विरोध जताते हुए एक रैली निकालेंगे |
  • विरोध रैली में आयोजकों ने कहा कि; मुंबई आतंकवादी हमले के दोषी पाकिस्तान में आज भी आजादी से घूम रहे हैं|
  • पाकिस्तानी मूल के कनाडाई तारीख फतेह ने ट्वीट किया
  • साल 2008 में आज के दिन लश्कर-ए-तैयबा के जिहादी आतंकवादी समुद्र के रास्ते मुंबई पहुंचे थे|
  • और 166 से अधिक लोगों को मारा था| इसमें कुछ लोग ताज होटल में थे |
  • और कुछ यदि सेंटर में थे जो इस आतंकी हमले में मारे गए|