31 दिसंबर से बदल जाएंगे state bank of India का नियम आप भी करवा ले नहीं तो नहीं निकाल पाएंगे पैसा

31 दिसंबर से बदल जाएंगे state bank of India के   नियम आप भी करवा ले नहीं तो नहीं निकाल पाएंगे पैसा आपको बता दें की अगर आपका बचत खाता एसबीआई में है तो यह काम 31 दिसंबर से पहले ही करवा ले !

31 दिसंबर से बदल जाएंगे  state bank of India के नियम  एटीएम कार्ड में हो रहे हैं मुख्य बदलाव::-

भारतीय रिजर्व बैंक के नियमानुसार एसबीआई की ओर से दिए गए एक जानकारी के मुताबिक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने डेबिट कार्ड में बदलाव के नियम निकाले हैंपुराने डेबिट कार्ड को बदलकर नया डेबिट कार्ड दे रहे हैंअगर आपने अपना एटीएम नहीं बदला तो 1 जनवरी से नहीं निकाल पाएंगे पैसा और ना ही कर पाएंगे पैसों का लेनदेनअगर आपका बचत खाता भारत के सबसे बड़े बैंक sbi में है तो आपको बता दें किस्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने पहले वाली मैग्नेटिक ट्रिप वाली डेबिट कार्ड को बंद कर दिया है और उसकी जगह नया ईएमवी चिप वाला कार्ड दे रहा हैऔर इस काम के लिए state bank of India ने 31 दिसंबर तक का टाइम दिया है एसबीआई ने कहा जो लोग कार्ड भी नहीं बदलाव आए हैं उनके पास अभी 31 दिसंबर तक का टाइम है

read also; भारत में हुआ आज नागरिकता संशोधन बिल पास गृहमंत्री अमित शाह संसद में रखा नागरिकता संशोधन बिल

मैग्नेटिक स्ट्रिप डेबिट कार्ड को बदलकर ईएमबी चिप कार्ड देने का प्लान ::-

  • भारतीय रिजर्व बैंक के नियम के बाद हिंदी ने ट्वीट करके अपने ग्राहकों को यह जानकारी दी
  • कि जिन्होंने अभी कार्ड नहीं बदलावए हैंवह तुरंत अपने होम ब्रांच पर संपर्क करें
  • और उन्हें मैग्नेटिक ट्रिप डेबिट कार्ड के बदले ईएमवी चिप वाला डेबिट कार्ड दिया जाएगा
  • state bank of India ने कहा कि अगर आप अपना पुराना कार्ड नहीं बदलवा रहे हैं
  • तो एटीएम मशीन आपके पुराने कार्ड को स्वीकार नहीं करेगी
  • आप पैसों का लेन-देन नहीं कर पाएंगे
  • state bank of India  के अनुसार मैग्नेटिक स्ट्रिप डेबिट कार्ड सुरक्षित नहीं है
  • और इससे ग्राहकों का बहुत नुकसान हो रहा है
  • भारतीय रिजर्व बैंक के अनुसार ईएमवी डेबिट कार्ड ज्यादा सुरक्षित है
  • इसमें एक छोटी सी चिप लगी होती है जिसमें आपके अकाउंट की पूरी जानकारी होती है
  • ईएमवी चिप कार्ड में लगी होती है जो आपके ट्रांजैक्शन को संपन्न करता है
  • और उसके लिए एक वेरीफिकेशन कोड मांगता है जोकि मैग्नेटिक स्ट्रिप कार्ड में ऐसा नहीं होता था

इसे करवाने के लिए ग्राहक होम ब्रांच पर जा सकते हैं या इंटरनेट बैंकिंग के द्वारा भी आवेदन कर सकते हैं