40000 करोड रुपए बचाने के लिए देवेंद्र फडणवीस 80 घंटों के लिए बने थे सीएम

महाराष्ट्र में देवेंद्र फडणवीस का बहुमत नहीं होने की वजह से उन्होंने सीएम पद से इस्तीफा दे दिया लेकिन इसकी असली सच्चाई अब पता चली है कि देवेंद्र फडणवीस बहुमत नहीं होने के बावजूद भी 80 घंटों के लिए सीएम क्या बनी देवेंद्र फडणवीस ने देश के 40000 करोड में बचाने के लिए मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी|

40000 करोड देवेंद्र फडणवीस : रुपए बचाने के लिए  80 घंटों के लिए बने थे सीएम

  • महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस अजीत पवार के साथ गठबंधन करके सरकार बनाई थी
  • लेकिन बहुमत नहीं होने की वजह से इस्तीफा देना पड़ा| बीजेपी विधायक अनंत हेगड़े की रिपोर्ट में
  • इस बात का खुलासा हुआ है कि देवेंद्र फडणवीस यह जानते थे कि उनके पास बहुमत नहीं है फिर
  • भी वह मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी देवेंद्र फडणवीस के पास बहुमत नहीं होने के बावजूद भी सीएम
  • बनने के पीछे बहुत बड़ा राज है देवेंद्र फडणवीस के पास केंद्र सरकार के 40000 करोड रुपए थे और
  • अगर यह पैसे एनसीपी कांग्रेस सपा शिवसेना की सरकार को मिल जाते तो 40000 करोड़ रुपए का
  • महाराष्ट्र को फायदा नहीं हो पाता इसीलिए देवेंद्र फडणवीस ने 80 घंटे तक सरकार बनाकर 40000
  • करोड रुपए सरकार बनाने के लिए मात्र 15 घंटे बाद पुनः केंद्र सरकार को भेज दिए और दूसरे दिन सीएम पद से इस्तीफा ले लिया|

ALSO READ :- 5 दिसंबर भारत बंद: देश की बेटी के लिए देश बंद.

80 घंटे की सरकार बनाने के पीछे बीजेपी का था बड़ा प्लान

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह तथा महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस

तीनों इस बात से ज्ञात थे कि उनके पास बहुमत नहीं है लेकिन फिर भी इन्होंने शपथ ली थी भारतीय जनता पार्टी का यह प्लान

पहले से ही था क्योंकि पूर्ण बहुमत नहीं आने की वजह से सरकार बनाना काफी असंभव था और इधर देश के 40000 करोड

रुपए बचाने थे इसीलिए देवेंद्र फडणवीस को बहुमत नहीं होने के कारण भी शपथ लेनी पड़ी और

अजीत पवार को डिप्टी सीएम के रूप में शपथ दिलाई गई थी|