5G Testing केस में दिल्ली हाई कोर्ट ने खारिज की जूही चावला की अपील, ठोका 20 लाख का फाइन।

0
47
5g testing case juhi chawla
MUMBAI, INDIA - AUGUST 09: Juhi Chawla attends the Nishika Lulla's Fashion preview at Fuel store on August 9, 2009 in Mumbai, India. (Photo by Prodip Guha/Getty Images)

दिल्ली हाईकोर्ट ने शुक्रवार को 5G Testing पर जूही चावला द्वारा फाइल की गई अपील को खारिज कर दिया है। साथ ही, कोर्ट ने उन पर 20 लाख रुपयों का फाइन भी लगा दिया है। जूही चावला ने 5G टचिंग मामले पर केस इसलिए किया था क्योंकि उनके मुताबिक 5G Testing की वजह से पर्यावरण को काफी ज्यादा नुकसान होने वाला है।

मशहूर बॉलीवुड अभिनेत्री जूही चावला पिछले कुछ समय से 5G Testing को लेकर पर्यावरण को होने वाले नुकसान को लेकर लोगों को काफी जागरूक करने की कोशिश कर रही थी साथ ही उन्होंने हाईकोर्ट में इसके खिलाफ याचिका भी दर्ज की थी।  बहुत सी सुनवाइयों के बाद दिल्ली हाई कोर्ट ने शुक्रवार को जूही चावला की इस याचिका को खारिज कर दिया है तथा उन पर 20 लाख रुपए का फाइन भी लगाया है।

पीटीआई की एक रिपोर्ट के अनुसार, दिल्ली हाई कोर्ट  ने कहा कि मुकदमा प्रचार के लिए दायर किया गया था, क्योंकि जूही ने सुनवाई का वेब लिंक सोशल मीडिया पर साझा किया था, जिसके कारण अज्ञात लोगों ने इस कार्यवाही में बाधा डाली है।

 

जूही चावला ने कोर्ट में अपनी याचिका में कहा था कि ”कोई भी व्यक्ति, कोई जानवर, कोई पक्षी और पृथ्वी पर कोई भी पौधा, दिन के 24 घंटे, साल में 365 दिन, RF रेडिएशन के स्तर से 10x से 100x गुना अधिक जोखिम से बचने में सक्षम नहीं होगा जो आज मौजूद है। 5G Testing “मनुष्यों पर गंभीर, अपरिवर्तनीय प्रभाव और पृथ्वी के सभी पारिस्थितिक तंत्रों को स्थायी क्षति” पहुंचाएगा।”

जूही चावला ने यह केस, पर्यावरण को 5G Testing के कारण पहुंचने वाली क्षति को मद्देनजर रखते हुए दर्ज करवाया था। लेकिन उनकी एक गलती की वजह से उनकी याचिका हाईकोर्ट की तरफ से खारिज कर दी गई थी। जब उनकी सुनवाई हाईकोर्ट में चल रही थी उस समय सोशल मीडिया पर लाइव हुए कुछ लोगों ने भद्दे कमेंट करना शुरू कर दिया और साथ ही कुछ लोगों ने गाने भी गाए  जिसकी वजह से कोर्ट की कार्यवाही में काफी दखल अंदाजी हुई है।

यह भी पढ़े:केवल पैसों के लिए शुरू किया था फिल्म बनाना, आज हर एक्टर ढूँढ़ता है Prasanth Neel के साथ एक फिल्म करने का मौक़ा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here