आजादी के बाद भारत में पहली महिला को फांसी,जानिए किया था जुर्म

पहली महिला को फांसी
इमेज: पहली महिला को फांसी

भारत को आजादी मिले हुए काफी साल हो गए हैं। आजादी के बाद अब तक किसी भी महिला को फांसी पर नहीं चढ़ाया गया है। लेकिन अब यह रिकॉर्ड पहली बार टूटने वाला है। क्योंकि सुप्रीम कोर्ट के आदेश अनुसार उत्तर प्रदेश की शबनम नाम की पहली महिला को फांसी की सजा होने वाली है। फांसी की सजा सुनाने के पश्चात शबनम ने राष्ट्रपति मैं दया याचिका दायर की थी। लेकिन राष्ट्रपति द्वारा दया याचिका को खारिज कर दिया है। अब डेथ वारंट जारी होने के बाद शबनम और उसके प्रेमी सलीम को फांसी पर चढ़ाया जाएगा। इन दोनों ने जो कांड किया था,उसे सुनकर हर कोई व्यक्ति का रूह कांप उठता है।

पहली महिला को फांसी, जानिए क्या था जुर्म

शबनम उत्तर प्रदेश में रहने वाली एक नौजवान लड़की जिसे सलीम नाम के एक लड़के से प्यार हो गया था। शबनम ने मास्टर डिग्री ले रखी थी। प्यार में परिवार वालों ने कुछ दखलअंदाजी की तो 1 दिन शबनम ने घर के सभी सदस्यों को खाने में जहर मिलाकर बेहोश कर दिया और उसके पश्चात कुल्हाड़ी से माता-पिता और भांजे समेत सात लोगों को मौत के घाट उतार दिया। शबनम के साथ साथ सलीम भी इस कांड में शामिल था। इस गुनाह को अंजाम देने के बाद शबनम ने खुद को बचाने का बहुत प्रयास किया और पुलिस को बताया कि घर में लुटेरे घुस गए थे।

जिन्होंने उनके पूरे परिवार को मार डाला और मैं बाथरूम में थी, इसलिए मैं बच गई। लेकिन झूठ लंबे समय तक नहीं चलता है। पुलिस की तहकीकात में डकैती का कोई मामला सामने नहीं आया और पोस्टमार्टम की रिपोर्ट ने शबनम पर शक बढ़ा दिया। लंबे समय तक पुलिस की पूछताछ के बाद शबनम ने अपना गुनाह स्वीकार कर लिये और अपने साथी फिल्म का नाम भी बोल दिया। दोनों के गुनाह कबूल करने के पश्चात अब दोनों को फांसी की सजा सुना दी गई है। भारत में पहली महिला को फांसी आजादी के बाद मथुरा फांसी खाने में शबनम को फांसी दी जाएगी।

यह भी पढें:- Gold Rate Today: सोने की कीमत में लगातार गिरावट, जानिए नए भाव

मथुरा फांसी खाने में हो रही है तैयारियां

इतने लंबे सालों बाद मथुरा फांसी खाने में पहली बार जल्लाद पवन द्वारा शबनम को और उसके प्रेमी सलीम को फांसी पर चढ़ाया जाएगा। इसलिए मथुरा जेल अधिकारियों द्वारा फांसी की तैयारियां शुरू कर दी गई है। इतने लंबे समय बाद उस फांसी खाने में फांसी दी जाएगी। इसलिए जल्लाद पवन ने दो बार फांसी घर का निरीक्षण किया है और उसमें कुछ कमियां थी। उसको बताया है,ताकि मथुरा जिला अधिकारी उन कमियों को जल्द से जल्द पूरा कर सकें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here