मातृ दिवस पर कविता हिंदी में – Mother’s Day 2020 Poem in Hindi

हैप्पी मदर्स डे 2020 – मातृ दिवस जो की हर वर्ष मई महीने में दूसरे रविवार को पूरी दुनिया में मनाया जाता है। आज की इस पोस्ट में हम आपके लिए माँ को समर्पित हिन्दी कविता, माँ पर कुछ पंक्तियाँ, माँ के ऊपर छोटी कविता प्रस्तुत कर रहे है, इस कविता को आप अपनी माँ के साथ शेयर कर उन्हें सम्मान दें ।

मदर्स डे पर कविता 2020, माँ को समर्पित हिन्दी कविता, मातृ दिवस कविता, Mother’s Day Poem in Hindi, A Hindi Poem dedicated to Mothers,

मातृ दिवस पर कविता हिंदी में

माँ

एक छाँव सी है माँ की मंमता
माँ उजाले का रूप है

सबकी मोहब्बत के है अपने अपने दायरे
माँ ही है एक जो समता का रूप है

सब ने बाँट लिया मुझे जरूरत के मुताबिक
एक माँ ही है जो खुद बंटने का रूप है

सब मांग लेते है दुआओं मे खुशियाँ अपने लिए
एक माँ ही है जो औलाद के लिए झुकने का रूप है

कोई सम्भु को पूजे,  कोई अल्लाह को माने
एक माँ ही है जो अंनत का रूप है

हम देखने लगे है आजकल फोन मे
कोई माँ को नहीं देखता

हम पूछने लगे है हाल यारों का
कोई माँ को नहीं पूछता

हम आज मनाने लगे है mothers डे
हर रोज mother को कोई नहीं पूछता

सब घूमने लगे मंदिर मस्जिद गंगा काशी
कोई माँ को नहीं पूजता..

माँ घर मे है तो घर घर सा लगता है
ईंटो के ढांचे को मकान नहीं कहते

माँ दिख जाये सांझ  को तो वो सांझ है
यूँ ही सूरज के ढलने को सांझ नहीं कहते

माँ साथ है तो उजाला है जीवन मे
यूँ ही धूप बिखरने को उजाला नहीं कहते

माँ की ममता के आगे तो ईश्वर भी नतमस्तक है
यूँ ही कृष्ण को यसोदा का लाला नहीं कहते

माँ है तो भरा भरा सा है संसार
यूँ ही चलती भीड़ को संसार नहीं कहते

माँ है तो पूरा है परिवार..
सिर्फ बीवी, बेटे को परिवार नहीं कहते..

Poems on Mother in Hindi , hindi poem pyari maa ,maa par kavita, मेरी प्यारी माँ ,Mothers day,

A Poem dedicated to Mother’s day 2020

रचनाकार : सोनू सुथार
खिनानियाँ – नोहर (राजस्थान)

अन्य बेहतरीन हिन्दी कविताएँ

हमें विश्वास है कि हमारे पाठक स्वरचित रचनाएं ही इस कॉलम के तहत प्रकाशित होने के लिए भेजते हैं। हमारे इस सम्मानित पाठक का भी दावा है कि यह रचना स्वरचित है।

Leave a Comment