भारतीय नौसेना ने ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का किया सफल परीक्षण

भारतीय नौसेना ने गुरुवार को अरब सागर में ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का सफल परीक्षण किया यह मिसाइल भारतीय नौसेना में शामिल होने के बाद भारतीय नौसेना की शक्ति और ज्यादा मजबूत हो गई|

भारतीय नौसेना ने ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का किया सफल परीक्षण

  • ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज    एक कम दूरी में रैमटेज करने वाली मिसाइल है
  • इसी पनडुब्बी से पानी में जहाज से तथा अभिमान में या जनों से भी जोड़ा जा सकता है
  • यह मिसाइल सेना की काफी ताकतवर मिसाइल मानी जाती है
  • रुस ने सर्वप्रथम मिसाइल का सफल परीक्षण किया था|
  • रूस ने इस मिसाइल का प्रयोग नवंबर 2006 में किया था|
  • भारत की इस उपलब्धि के बाद भारत की नौसेना के साथ-साथ रक्षा प्रणाली भी भी मजबूत हुई है
  • साथ ही भारत के दुश्मन देश को काफी भय पैदा हुआ है
  • और एक मजबूत संदेश मिला है इस मिसाइल को डीआरडीओ ने विकसित किया है|
  • ये मिसाइल मध्यम रेंज की ऐसी सुपरसोनिक मिसाइल है जो किसी एयरक्राफ्ट, शिप से भी दागी जा सकती है।
  • इससे पहलेभारतीय वायुसेना ने भी अंडमान निकोबार के ट्रॉक द्वीप पर ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज  का सफल परीक्षण किया था।
  • इस मिसाइल ने 300 किलोमीटर दूर के टारगेट को सटीक निशाना लगाते हुए तबाह कर दिया था।
  • जमीन से जमीन पर वार करने के लिए ब्रह्मोस भारत की सबसे सफल मिसाइल मानी जाती है।
  • इस ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल को थल, जल और हवा से दागा जा सकता है।
  • इसकी मारक क्षमता अचूक है। इसे नौसेना की सबसे शक्तिशाली मिसाइल माना जाता है

read also ; Reliance industries limited ( RILs); 10 लाख करोड़ का मार्केट हब को छूने वाली पहली भारतीय कंपनी बनी

ब्रह्मोस मिसाइल की खासियत

नौसेना की एक बेहतरीन  ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज  काफी  शक्तिशाली मिसाइल है यह मिसाइल 3000 से 25 सौ किलोग्राम की है इस मिसाइल की लंबाई 8. 4 मीटर तथा 6 मीटर है यह विशाल समुद्र तल से 304 मीटर की ऊंचाई तक उड़ने में सक्षम है यह मिसाइल रडार की पहचान प्रणाली में नहीं आती है इस मिसाइल को रडार भी ट्रैक नहीं कर सकता| इस मिसाइल का सामना करना लगभग असंभव है क्या मिसाइल अमेरिकी मिसाइल टॉम हॉक  से दुगुनी शक्ति वाली मिसाइल है| यह मिसाइल असंभव लक्ष्य को भेदने में सक्षम है

] नौसेना की ताकत बढ़ी