बिना हॉल मार्क के नहीं बिकेगा सोना ; नरेंद्र मोदी

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब से देश के प्रधानमंत्री बने हैं हर बार देश के हित में कई बड़े-बड़े फैसले ले चुके हैं केंद्र में मोदी सरकार ने सोने और आभूषणों को लेकर एक बड़ा फैसला किया है इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि बिना हॉल मार्क के नहीं बिकेगा सोना|

बिना हॉल मार्क के नहीं बिकेगा सोना ; नरेंद्र मोदी

बिना हॉल मार्क के नहीं बिकेगा सोना ; नरेंद्र मोदी

  • नरेंद्र मोदी का कहना है कि बिना हॉल मार्क के कोई भी आभूषण बाजार में नहीं बेचे जाएंगे
  • यह फैसला साल 2020 में लागू होगा इस फैसले को लागू करने की तारीख 15 जनवरी 2020 है
  • इस दिन के बाद पूरे भारत में 600000 से अधिक व्यापारी जोकी ज्वेलरी का व्यापार करते हैं
  • तथा सोने के आभूषण बेचते हैं उनमें से कई व्यापारी जो छोटे शहरों में है
  • वह बिना हॉलमार्क का सोना भी बेचते हैं पूरे भारत में 877 हॉल मार्क केंद्र है
  • यहां पर सोने की गुणवत्ता के अनुसार उस पर हॉल मार्क लगाया जाता है
  • जिससे हर व्यक्ति को उस सोने की गुणवत्ता का पता रहे
  • तथा हॉल मार्क गुणवत्ता का काम साल 2000 से चल रहा है|
  • केंद्रीय सरकार के इस फैसले के बाद सभी ज्वेलर्स व्यापारियों को पुराने सोने का स्टॉक खत्म करना होगा
  • उन्होंने बताया है कि ;अब तक सिर्फ 26019 ज्वेलर्स में हॉल मार्क ले रखा है
  • बाकी सभी छोटे-बड़े ज्वेलर्स के व्यापारी बिना हॉलमार्क के सोना बेच रहे हैं|
  • पासवान ने दी जानकारी के अनुसार देश में 232 जिलों में भारतीय मानक ब्यूरो ( BIS) के हॉल मार्किंग 877 केंद्र है
  • बड़े शहरों में हॉल मार्किंग कहते हैं लेकिन छोटे से है हॉल मार्किंग केंद्रों से दूर है
  • और यहां पर बिना हॉल मार्किंग के सोने का व्यापार किया जा रहा है

Read also:MI NOTE 10 होगा भारत में जल्द ही। लॉन्च जानिए इसके फीचर.

व्यापारियों के लाभ के हित में लिया गया फैसला; पासवान

पासवान ने बताया कि केंद्र सरकार का यह फैसला उपभोक्ता तथा ज्वेलर्स व्यापारियों को लाभ को ध्यान में रखते हुए लिया गया है hallmark  मिलावट से बचाता है और यह सुनिश्चित करता है कि यह व्यापारी अच्छी गुणवत्ता का सोना बेचता है तथा यह व्यापारी धोखाधड़ी नहीं कर सकता सोने की गुणवत्ता को कानूनी मांनको को बनाए रखने के लिए माध्य करता है|

भारतीय मानक ब्यूरो अधिनियम 2016 को 12 अक्टूबर 2017 और भारतीय मानक ब्यूरो (हॉलमार्किंग) विनिमय 2018 को 14 जून 2018 से लागू किया गया।