अमित शाह और ब्रू शरणार्थियों के प्रतिनिधियों ने एक समझौते पर किये हस्ताक्षर

ब्रू शरणार्थी समझौता 2020
Image : ब्रू शरणार्थी समझौता 2020

अभी अभी दिल्ली से खबर मिली है कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और ब्रू शरणार्थियों के प्रतिनिधियों ने त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब और मिजोरम के मुख्यमंत्री गोरमथांगा की मौजूदगी में मिजोरम से ब्रू शरणार्थियों के संकट को समाप्त करने और त्रिपुरा में उनके निपटान के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किए।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का कहना है कि त्रिपुरा में लगभग 30,000 ब्रू शरणार्थियों को बसाया जाएगा जिसके लिए 600 करोड़ रुपए का पैकेज दिया गया है।

इस समझौते के ऊपर त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देव का यह कहना है कि यह कदम ऐतिहासिक है मैं त्रिपुरा के लोगों की ओर से प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र भाई मोदी और गृहमंत्री अमित शाह को धन्यवाद देना चाहता हूं।

और वही मिजोरम के मुख्यमंत्री जोरमथंगा कहते हैं कि आज हमने ब्रू नेताओं और त्रिपुरा सरकार और मिजोरम सरकार के साथ एक महत्वपूर्ण समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं जो 25 वर्षों से चल रहे ज्वलंत मुद्दे को स्थाई रूप से हल कर देगा।

इस समझौते पर हस्ताक्षर होने के बाद सोशल मीडिया पर कुछ लोगों ने मोदी सरकार के ऊपर विश्वास जताते हुए कहा है कि कम से कम है यह सरकार वास्तव में पूर्वी भारत को देश का ही हिस्सा मानती है और उम्मीद है कि वे जल्द से जल्द असम मुद्दे को भी इसी तरह हल कर लेंगे।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने ऐलान किया है कि ब्रू शरणार्थियों को ₹400000 की फिक्स डिपॉजिट के साथ 40*30 फीट का प्लॉट मिलेगा और साथ ही 2 साल के लिए ₹5000 प्रति माह की नगद सहायता और मुफ्त राशन दिया जाएगा।

केंद्र की मोदी शाह जोड़ी का यह कदम वास्तव में सहारणीय है, हालांकि कुछ लोग इसके ऊपर कटाक्ष करेंगे और व्यंग्य लिखेंगे लेकिन वास्तव में देखा जाए तो यह एक बहुत ही अच्छा कदम उठाया गया है केंद्र सरकार द्वारा और INDNEWSTV इसका समर्थन करता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here