सीएए प्रोटेस्ट जर्मन छात्र : मद्रास ने वापस उसके देश भेजा

CAA protest  जर्मन छात्र : नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी को लेकर पूरे देश में बवाल चल रहा है|

इसी को देखते हुए आईआईटी मद्रास के एक जर्मन छात्र ने इसका विरोध किया तो ,

आईआईटी मद्रास ने उसे वापस जाने को कहा |

आईआईटी मद्रास ने किसी भी विदेशी नागरिक द्वारा कोई भी राजनीतिक विरोध करना वीजा के नियमों का उल्लंघन करना बताया|

CAA protest  जर्मन छात्र द्वारा नागरिकता संशोधन कानून का विरोध करने पर आईआईटी  मद्रास ने उसे वापस उसके देश भेजा

  • नाश्ता संशोधन कानून और एनआरसी को लेकर पूरे देश में बवाल मचा हुआ है |
  • इसी बीच आईआईटी मद्रास के एक जर्मन छात्र ने इसके विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लिया था |
  • फिर आईआईटी मद्रास के कॉलेज प्रशासन ने छात्र को वापस अपने देश जर्मन जाने को कहा |
  • आईआईटी मद्रास के अनुसार एक विदेशी नागरिक को किसी भी राजनीतिक विरोध के प्रदर्शन में हिस्सा लेना|
  • यह वीजा कि नियमों का उल्लंघन है |
  • आईआईटी मद्रास ने कहा ऐसे नियमों का उल्लंघन करने पर विदेशी नागरिक को वापस उसके देश भेज दिया जाता है|

ALSO READ :- Jharkhand assembly election result 2019

आईआईटी मद्रास के अनुसार जर्मन छात्र ने किया था वीजा के नियमों का उल्लंघन

आईआईटी मद्रास में पढ़ने आए जर्मन के एक छात्र जैकोब लिंडथेल को आईआईटी मद्रास ने वापस अपने देश जर्मन जाने को कहा |

जर्मन के छात्र ने चेन्नई में नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में हिस्सा लिया था|

जिसके बाद से आईआईटी मद्रास ने उसे वापस अपने देश जाने को कहा |

आईआईटी मद्रास में फिजिक्स से एमएससी कर रहे छात्र ने पिछले हफ्ते चेन्नई में नागरिकता संशोधन कानून के विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लिया था|

जेकोब को अगले साल मई 2020 में जाना था |

लेकिन उससे पहले आईआईटी मद्रास ने उन्हें वापस जाने को कह दिया|

आईआईटी मद्रास में अभी छात्र की एक सेमेस्टर की पढ़ाई बची हुई थी |

इतने पर ही आईआईटी मद्रास छात्र को वापस अपने देश जाने को कह दिया |

कॉलेज प्रशासन द्वारा छात्र को अवगत कराने के बाद छात्र सोमवार की शाम को वापस अपने देश रवाना हो गए |

प्रदर्शन के कारण देश से भगाए जाने पर छात्र ने एक इंटरव्यू में कहा कि यह बात मौखिक रूप से सही है |

छात्र ने कहा कि ऐसा करने पर वीजा के नियमों का उल्लंघन माना जाता है और उसे वापस उसके देश भेज दिया जाता है|