गहलोत सरकार की घोषणा : राजस्थान में तम्बाकू, पान मसाला पर बैन

तम्बाकू तथा पान मसाला सेहद के लिए हानिकारक है परन्तु फिर भी पुरे देश में तम्बाकू, गुटखा, पान मसाला का भारी मात्रा में उपयोग किया जाता है. सरकार ने इसके उपयोग को कम करने के लिए कई अहम कदम उठाये थे पर उसका कोई प्रभाव देखने को नही मिला. सरकार ने पहले तम्बाकू, गुटखा, पान मसाला के पैकैट पर हानिकारक होने के संकेत दिए तथा सार्वजनिक स्थानो पर उपयोग करने पर जुर्माना भी लगाना शुरू किया लेकिन इन सभी का कोई ज्यादा प्रभाव लोगो पर नही दिखा.गहलोत सरकार की घोषणा : राजस्थान में तम्बाकू, पान मसाला पर बैन लगाया गया है.

 

गहलोत सरकार की घोषणा : राजस्थान में तम्बाकू, पान मसाला पर बैन

  • तंबाकू ,गुटखा, पान मसाले से आए दिन लोगों को गले के कैंसर,
  • श्वसन नली में कैंसर तथा फेफड़ों के सड़ने जैसी बीमारियां सामने आ रही है
  • फिर भी लोग इसके उपयोग को कम करने की बात ही नहीं कर रहे
  • इसी को देखते हुए पहले बिहार सरकार ने 11 प्रचलित पान मसालों की ब्रांड पर बैन लगाया
  • और अब तीन ब्रांड पर और बैन लगा दिया गया. बिहार सरकार का यह फैसला काफी उचित था.
  • राजस्थान में भी 2 अक्टूबर को गांधी जयंती के दिन पर राजस्थान की गहलोत सरकार ने
  • विधानसभा में पूरे राजस्थान में पान मसाले तंबाकू तथा गुटखा पर रोक लगाई है

READ ALSO ;शरीर के लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होती है। यह वस्तु, 7 दिन में हो जाओगे ताकतवर.

  • राजस्थान सरकार का कहना है कि; तंबाकू तथा पान मसाले में उपयोग किए जाने वाले
  • मैग्नीशियम कार्बोनेट से कई प्रकार के हार्ड अटैक की संभावना बढ़ती है
  • तथा लोग अपनी जान को जोखिम में डालते हैं
  • इसीलिए राजस्थान सरकार ने पूरे प्रदेश में तंबाकू पान मसाला तथा गुटखा को
  • ऑनलाइन तथा ऑफलाइन माध्यमों पर हो रही बिक्री पर बैन लगा दिया है
  • राजस्थान सरकार ने तंबाकू पान मसालों के भंडारण फैक्ट्रियों आदि को भी सीज किया है.
  • हालांकि बिहार में तंबाकू पान मसाला पर सिर्फ 1 साल के लिए ही बैन लगाया गया है.