हरियाणा 15 से 20 अप्रैल के बाद गेहूं – सरसों की खरीद करेगी सरकार/ किसानों को हुई इसकी चिंता

हिसार/ हरियाणा : देश में कोरोना के असर से चलते PM Modi ने 21 दिन के लॉकडाउन की घोषणा कर दी है , जिसके चलते सरकार द्वारा गेहूं और सरसों की खरीद 14 से 20 अप्रैल तक टाल दिया गया है। आज मुख्यमंत्री मनोहर खट्टर ने राज्य के किसानों से अपील की गई है की उन्हें अधिक चिंतित होने की आवश्यकता नही है, सरकार द्वारा किसानों का एक-एक दाना उचित दाम देकर ख़रीदा जायेगा।

मुख्यमंत्री ने किसानों के चिंता ना करने को कहा

मनोहर लाल खट्टर ने कहा की किसानो को कही ऐसा तो नही लग रहा की उनकी साल भर की जो कमाई (फसल) है वो न खरीदी जाए , क्योकि फसल तैयार खड़ी है .आगे उन्होंने कहा की इसकी जरा भी चिंता ना करे इसके लिए हमारी योजना बन गई है और हम किसान की फसल का एक एक दाना खरीदेंगे . हाँ इसके लिए थोड़ी देरी हो सकती है क्योकि 14 अप्रैल तक यह करना सम्भव नही है .

इसलिए हमने इसकी तिथियों के अंदर परिवर्तन किया है जिसके तहत सरसों की प्रोक्योरमेंट (खरीद) 15 अप्रैल से शुरू कर दी जायेगी और गेहूं की प्रोक्योरमेंट 20 अप्रैल से शुरू कर दी जायेगी .

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा की अगर सब कुछ सही रहता है तो सरसों की खरीद का कार्य 15 अप्रैल से शुरू कर दिया जायेगा , वही गेहूं की खरीद का कार्य 20 अप्रैल से शुरू कर दिया जायेगा .

Watch CM Manohar Lal Live (26.03.2020)

जानकारी के लिए आपको बता दे की आमतौर पर सरसों और गेहूं की खरीद राज्य में जहां 1 अप्रैल से शुरू हो जाती है वो इस बार 15-20 दिनों की देरी से शुरू होने की सम्भावना है।

किसानों की इसलिए भी बढ़ी चिंता

खेतों में सरसों और गेहूं की फसलें पक्क कर तैयार खड़ी है वो उसे कैसे निकाले इसकी भी चिंता किसानों को हो रही है , क्योकि फसल कटाई के लिए किसानों को मजदूर और थ्रेसर मशीने नही मिल पा रही है । साथ ही निकली हुई फसलों की खरीद नही होने के कारण को अपने अनाज भंडारण के लिए भी स्वयं ही व्यवस्थता करनी पड़ेगी ।

मुख्यमंत्री ने किसानो से अपील की है की वो जितना हो सके अपनी फसलों का घर में ही भंडारण की व्यवस्था करे क्योकि निकाली हुई फसल को खेतों में तो छोड़ा जा नही सकता . हम जल्द से जल्द इसकी खरीद सुनिश्चित करने की कोशिश करेंगे .

गरीब परिवारों व छोटे दुकानदारों के लिए योजना

CM Manohar Lal ने छोटे दुकानदारों व ऐसे गरीब परिवारों का जिक्र किया जो रोज दिहाड़ी-मजदूरी करके कमाता है और अपना जीवन यापन करता है ,उनके लिए “मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना ” पहले से चला रखी है . इस योजना में अभी तक 12 लाख 56 हजार परिवारों का रजिस्ट्रेशन हो चुका है जिन्हें 4000 रूपये एकमुश्त राशि भेजनी शुरू की है . 2 लाख 76 हजार परिवारों को यह राशि अभी तक भेजी जा चुकी है ,

Haryana Corona Relief Fund Deatils

हरियाणा कोरोना रिलीफ फण्ड की स्थापना की गई है जिसमे लोग अपना योगदान कर रहे है . अभी तक लगभग 2000 लोगों द्वारा 5 करोड़ 84 लाख रूपये की राशि इस फण्ड में आ चुकी है . इस रिलीफ फंड का बैंक खाता नंबर 39234755902 (आइएफएससी कोड SBIN0001509) है, जो पंचकूला में खोला गया है।

साथ ही आज मुख्यमंत्री ने किराना / दूध / केमिस्ट शॉप पर पंजीकरण के लिए ऑफिसियल वेबसाइट भी लॉन्च की है जिसका यूआरएल है : covidssharyana.in यहाँ पर आप 2 तरह से रजिस्ट्रेशन कर सकते है पहला दुकानदार /किरयाना जो सामान सप्लाई करना चाहते है और दूसरा वॉलिंटियर जो अपनी सेवा देना चाहते है .

Leave a Comment