हैदराबाद एनकाउंटर केस: तेलंगना पुलिस ने कहा किसी को भी जवाब देने को तैयार

indnewstv (तेलंगाना)  : हैदराबाद एनकाउंटर केस मैं तेलंगाना पुलिस के ऊपर कई सवाल उठ रहे हैं एक तरफ पूरे देश में हंसी खुशी का माहौल है और सभी तेलंगाना पुलिस की तारीफ करते हैं लेकिन दूसरी तरफ कई ऐसे लोग हैं जो उन पर सवाल उठा रहे हैं

हैदराबाद एनकाउंटर केस: तेलंगना पुलिस ने कहा किसी को भी जवाब देने को तैयार :-

  • में हुए गैंगरेप के आरोपियों का पुलिस के द्वारा एनकाउंटर करने के बाद ;राजनीतिक सियासत गर्म हो गई है।
  • कई राजनेता और अभिनेता ही नहीं पूरा देश ही जहां इस काम की तारीफ कर रहा है।
  • वहीं पर कुछ लोग इस एनकाउंटर को कानून का उल्लंघन करना और ;इसे गलत तरीके से सजा देना भी बता रहे हैं।
  • इसी बीच तेलंगना पुलिस ने प्रेस वार्ता करते हुए कहा कि हम हर बात का जवाब देने को तैयार हैं।
  • एनकाउंटर स्पेशलिस्ट और हैदराबाद केस के सीनियर पुलिस कमिश्नर वीसी सज्जन का कहना है
  • कि वाह हर जवाबी कार्रवाई के लिए तैयार है!

Read also : महिला न्याय दिवस : आज पूरे देश में धूमधाम से मनाया जा रहा है।

हर स्थिति के लिए तैयार हैं:पुलिस कमिश्नर वीसी सज्जनर

  • (1) पुलिस कमिश्नर वीसी सजना ने कहा NHRC (राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग )और राज्य सरकार जो भी संज्ञान लेते हैं हम उसके लिए तैयार हैं!
    (2) हम राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के हर सवाल का जवाब देंगे!
    (3) राज्य सरकार केंद्र सरकार के हर सवालों का जवाब देने के लिए हम तैयार हैं!
    (4) NHRC( राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग) ने डीजी
    से घटना स्थल पर तुरंत अपनी टीम भेजने को कहा है!

‌ हैदराबाद एनकाउंटर केस के बाद राजनेताओं ने इस पर सियासत करनी शुरू कर दी है::-

  • इस पर कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने कहा कि मामले की पूरी तरीके से जांच होनी चाहिए
  • यह सही मुच कि मुठभेड़ थी या फिर आरोपी खाली भागने की कोशिश कर रहे थे !
  • ‌ हैदराबाद से एआईएम से सांसद असदुद्दीन ओवैसी का बयान आया है
  • उन्होंने कहा कि मैं इस हैदराबाद एनकाउंटर केस से सहमत नहीं हूं इस एनकाउंटर की पूर्णतया सही से जांच होनी चाहिए!
  • ‌ महिलाओं पर लगातार बढ़ रहे अत्याचार पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा है
  • कि पुरुषों को हटाकर महिलाओं को सत्ता में लाना चाहिए
  • और उन्होंने कहा मैं अपनी सभी बहनों से अनुरोध करती हूं कि वह पंचायत विधानसभा का चुनाव लड़े!

NHRC( राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग) ने घटनास्थल पर पहुंचकर पूरे मामले का संज्ञान लिया