झड़ते बालों को कैसे रोकें, जानिए सबसे आसान विधि

झड़ते बालों को कैसे रोकें, जानिए सबसे आसान विधि
झड़ते बालों को कैसे रोकें

झड़ते बालों को कैसे रोकें: बालों का झड़ना एक प्राकृतिक प्रक्रिया है। लेकिन अगर बालों के झड़ने की अधिकता है, तो समय रहते इसका उपाय करना आवश्यक है। अन्यथा बालों को भारी नुकसान हो सकता है। बालों को झड़ने से रोकने के लिए लोग कई महंगी दवाएं लेते हैं। लेकिन ये उपचार दीर्घकालिक लाभ प्रदान नहीं करते हैं। रासायनिक सौंदर्य उपचार के बजाय बालों के लिए आयुर्वेदिक उपचार पर जोर दें।

झड़ते बालों को कैसे रोकें, जानिए आयुर्वेदिक दवा बालों को जड़ों से मजबूत बनाया जाता है। आपकी जानकारी के लिए यह रूसी, बालों के झड़ने, बालों के झड़ने आदि जैसी समस्याओं से छुटकारा पाने में भी मदद करता है। क्या आप भी चाहते हैं सुंदर, घने, लंबे बाल? तो जानिए रामबाण आयुर्वेदिक उपचार।

 झड़ते बालोंको कैसे रोकें, जानें

  • इस उपाय के लिए केवल 10 से 15 नीम की पत्तियों की आवश्यकता होती है। केवल 10 से 15 पत्तियों का उपयोग करके बाल धोने के लिए पानी तैयार करें।
  • इस उपाय को करने से पहले एक प्रसिद्ध चिकित्सक से भी एहतियात के तौर पर सलाह ली जानी चाहिए। ताकि आपको सही मदद मिले।

जानिए पानी तैयार करने की विधि:

  • नीम के 10 से 15 पत्तों को धो लें। फिर एक बड़े बर्तन में एक गिलास पानी गर्म करें। पानी गर्म होने के बाद, नीम के पत्ते डालें और मिश्रण को मध्यम आँच पर गरम होने दें।
  • पानी को आधा सूखने तक उबलने दें। आँच बंद कर दें और मिश्रण को ठंडा होने दें। फिर पानी को दूसरे बर्तन में डालें। शैम्पू करने के बाद इस पानी का इस्तेमाल करें।
  • याद रखें कि इस पानी को अपने नहाने के पानी में न मिलाएं।

नीम के पत्ते के उपयोग की विधि

  • शैंपू करने के बाद अपने बालों को ठंडे पानी से धो लें। याद रखें कि इसके बाद ही आप बालों के लिए नीम के पानी का उपयोग करना चाहते हैं।
  • शैंपू करने के बाद, धीरे-धीरे बालों पर एक मुट्ठी नीम का पानी डालें। नीम के औषधीय गुण खोपड़ी को पोषक तत्वों की गहरी आपूर्ति प्रदान करने में मदद करते हैं।
  • इस पानी को बालों में लगाने के बाद दोबारा शैम्पू का प्रयोग न करें।
पानी के छींटे मारने के बाद नीम की पत्तियों को फेंकें नहीं। इन पत्तों का पेस्ट बनाएं और इसे चेहरे पर लगाएं। यह चेहरे पर त्वचा से संबंधित समस्याओं जैसे पिंपल्स, ब्लेमिश, व्हाइट हेड्स, ब्लैक हेड्स आदि को दूर करने में भी मदद करेगा। आप चाहें तो इन पत्तियों को फेस पैक में भी इस्तेमाल कर सकते हैं। नीम के पत्तों के पेस्ट को बेसन या चंदन पाउडर में मिलाएं और चेहरे पर लगाएं।

कितनी बार उपाय करें, जानें?

  • नीम के उचित उपयोग से खोपड़ी और चेहरे की त्वचा पर कोई दुष्प्रभाव नहीं पड़ता है। आप अपनी सुविधानुसार ऐसा कर सकते हैं। लेकिन अगर आप सुंदर और घने बाल चाहते हैं, तो इस उपाय को हफ्ते में कम से कम दो बार करें।
  • औषधीय गुणों के अलावा, नीम में एंटी-फंगल, एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-वायरल गुण भी होते हैं। यह रूसी, खुजली वाली खोपड़ी, अतिरिक्त तेल आदि से छुटकारा पाने में भी मदद करता है। यह बालों को एक प्राकृतिक चमक भी देता है।

ध्यान रखने वाली बातें

ध्यान रखा जाना चाहिए कि स्नान के दौरान नीम का पानी आंखों में न जाए। इस बीच इस पानी से आंखों को नुकसान नहीं होगा। लेकिन इससे आंखों में जलन भी हो सकती है। ऐसी समस्याओं को रोकने के लिए उचित सावधानी बरतने की आवश्यकता है।
ये भी पढें:- स्वस्थ दांपत्य जीवन का रहस्य: रिश्ते में आने के बाद भी कपल्स को कभी भी अपनी इन 5 चीजों को नहीं बदलना चाहिए

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here