बजट 2020-21 में किसानों को क्या मिला ? जाने

Union Budget 2020: आज दशक 2020 के पहले बजट को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने लोकसभा में पेश किया बजट पेश करते हुए सीतारमण ने कहा की हमारी सरकार किसानों की आय 2022 तक दोगुना करने के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध है . किसानों के लिए नए बाजार को खोलने की जरूरत है, ताकि उनकी आय को बढ़ाया जाएगा. किसानों के लिए वित्त मंत्री ने अपने बजट भाषण में जिन योजनाओं का जिक्र किया उसकी लिस्ट आप यहाँ देख सकते है .

इसे भी जाने : यूनियन बजट 2020 इनकम टैक्स हाइलाइट्स

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने साल 2020-21 के लिए लोकसभा में बजट पेश किया, उन्होंने एस्पिरेशनल इंडिया इकोनामिक डेवलपमेंट और केयरिंग सोसाइटी को बजट की थीम बताई. वित्त मंत्री ने इंडिया में कृषि सिंचाई और ग्रामीण विकास को सबसे पहले बताया . 2020-21 में खेती सिंचाई और ग्रामीण विकास के लिए कुल 2 करोड़ 30 लाख रुपए का बजट रखा गया है, जिसमे कृषि सिंचाई और सहायक कार्यों के लिए 1 लाख 60 हजार करोड़ रूपये जबकि ग्रामीण विकास और पंचायती राज्य में विकास के लिए  1 लाख 23 हजार करोड रुपए शामिल है.

बीते साल केवल कृषि और सहायक कार्यों के लिए 1 लाख 30 हजार करोड़ रुपए का बजट दिया गया था .

किसानों को क्या मिला आज के बजट 2020 में ?

आइये जाने के आज के बजट 2020 में वित्त मंत्री ने देश के किसानों के लिए क्या-क्या नई योजनाओं और लाभ की घोषणा की …(Kisano ke liye Bajat 2020 me kya ghoshna ki gai)

देश में  पानी की कमी से जूझ रहे 100 जिलों में किसानों को पानी मुहेया करवाने के लिए नई बड़ी योजनाये चलाई जायेगी.

पीएम कुसुम योजना के तहत 20 लाख किसानों को सोलर पंप योजना से जोड़ा जाएगा.

15 लाख किसानों के ग्रिड पम्प को भी सोलर योजना से जोड़ा जाएगा.

कृषि जमीन की उर्वरकता शक्ति बढ़ने पर जोर दिया जायेगा, जिसके लिए रासायनिक खादों के इस्तेमाल को कम कर किसानों को खाद के सही इस्तेमाल के लिए जानकारी प्रदान की जाएगी.

देश में चलाये जा रहे वेयरहाउस, कोल्ड स्टोरेज को नाबार्ड (NABARD) अपने अधीन कर नये तरीके से इनका डवलपमेंट किया जायेगा .

देश में PPP मॉडल अपनाकर नये वेयरहाउस, कोल्ड स्टोरेज का निर्माण करवाया जायेगा.

महिला किसानों के लिए धन्य लक्ष्मी योजना का भी ऐलान किया गया, जिसमे बीज से जुड़ी सरकारी योजनाओं में महिलाओं को जोड़ा जाएगा.

दूध, मांस, मछली समेत जल्द खराब होने वाली वस्तुओं को खराब होने से बचाने के लिए वातानुकुलित (AC) ‘किसान रेल’ चलाई जायेंगी.

राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कृषि उड़ान योजना को शुरू किया जाएगा.

बागवानी क्षेत्र में सुधार के लिए जिला स्तर पर योजना लाई जाएगी.

एकीकृत कृषि प्रणाली और मधुमक्खी पालन पर फोक्स किया जायेगा.

किसान क्रेडिट कार्ड योजना को 2021 के लिए बढ़ाया जाएगा.

2025 तक दुग्ध उत्पादन को दोगुना (108 मिलियन मैट्रिक टन) करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया .जिसके लिए नई योजनाओं को शुरू किया जायेगा.

मनरेगा योजना के तहत चारागार को जोड़ा जाएगा.

मछली पालन को बढ़ावा दिया जाएगा.

मत्स्य विस्तार के लिए 3077 नये सागर मित्र बनाए जाएंगे जिससे तटवर्ती इलाकों के युवाओं को रोजगार मिलेगा.

दीन दयाल योजना के तहत किसानों को दी जाने वाली सहायता को बढ़ाया जाएगा.

KisanBulletin #Budget2020 #AgricultureSector विडियो स्त्रोत:NewsPlatform

यहाँ देखें : बजट 2020 के भाषण की पीडीऍफ़ फाइल डाउनलोड करें /Budget 2020 PDF Download

Leave a Comment