ह्यूमन राइट्स डे क्यों मनाया जाता है राष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस

Human Rights Day( INDNEWSTV )10 दिसंबर को पूरी दुनिया में राष्ट्रीय मानवाधिकार मनाया जाता है मानवाधिकार दिवस आपको बता दें कि संयुक्त राष्ट्र संघ ने 10 दिसंबर 1948 को मानवाधिकार दिवस मनाने की घोषणा की थी अधिकारिक तौर पर बात करें तो या 1950 से मनाया जाना शुरू हुआ राष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस मनाने के लिए असेंबली ने 1950 में सभी देशों को आमंत्रित किया और तब से यह मनाया जाने लगा 1950 के बाद से ही असेंबली ने सभी देशों को आमंत्रित किया और तब से ही या मनाया जाने लगा और इस दिवस को मनाने की सबको सूचना दी गई राष्ट्रीय मानवाधिकार किसी एक के लिए नहीं बल्कि सभी आदमियों को अपने अधिकारों के बारे में जागरूक कराने के उद्देश्य से मनाया जाता है

क्यों मनाया जाता है राष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस  Human Rights Day ::-

  • राष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस सभी को अपने अधिकारों के प्रति जागरूक करने के लिए मनाया जाता है
  • चाहे वह जो भी अधिकार हो ;मानवाधिकार में आर्थिक;  सामाजिक नैतिक धार्मिक शिक्षा का अधिकार सारे उद्देश्य शामिल है
  • राष्ट्रीय मानवाधिकार मनुष्य का अधिकार है
  • जिसके आधार पर मनुष्य को उसके धर्म जाति उद्देश्य और संकट किसी भी आधार पर उससे अलग नहीं किया जा सकता
  • और ना ही उससे उसके धर्म आधार और जाति के आधार पर प्रताड़ित किया जा सकता है

READ  ALSO ; मोदी सरकार का ऐलान ;1 जनवरी 2020 से जीएसटी में बड़ा बदलाव

भारत में क्या है मानवाधिकार :-

  •  मानवाधिकार संयुक्त राष्ट्र संघ के द्वारा पास कराने के बाद लगभग 45 साल बाद भारत में लागू हुआ
  • भारत में मानवाधिकार लगभग 1993 सन में अमल किया गया
  •   Human Rights Day 1993 में मानवाधिकार पर अमल करने के बाद मानवाधिकार के प्रति; एक मानवाधिकार संगठन का गठन किया गया
  • भारत में मानवाधिकार सामाजिक आर्थिक राजनीतिक और जाति के क्षेत्रों में भी कार्य करता है
  • भारत में मानवाधिकार काम करता है
  • जैसे बाल विवाह बाल मजदूरी एचआईवी एड्स और महिलाओं के अधिकार के प्रति काम करता है
  • और उनको उनके अधिकार दिलाने में मदद करता है
  • मानवाधिकार का मुख्य उद्देश्य ज्यादा से ज्यादा लोगों को उनके अधिकार के प्रति जागरूक कराना है