इसरो मिशन 2019 : अंतरिक्ष की दुनिया में भारत का नाम रोशन

इसरो मिशन  2019 में अंतरिक्ष की दुनिया में अपना लोहा मनवाया और अंतरिक्ष की दुनिया में भारत का नाम रोशन किया और बहुत सारे सफल परीक्षण किए जिससे पूरे दुनिया में भारत का नाम रोशन हुआ

इसरो मिशन 2019 : अंतरिक्ष की दुनिया में भारत का नाम रोशन

  • chandrayaan-2 से लेकर पीएसएलवी तक इसरो ने बहुत सारे बड़े काम को 2019 में पूरा किया
  • साल 2019 में भारत ने अंतरिक्ष पर कई बड़ी उपलब्धियां हासिल की
  • वही दुनिया में पूरे भारत का नाम रोशन किया
  • इसरो ने chandrayaan-2 से लेकर कई सारे सफल परीक्षण किए
  • और दुनिया में भारत का नाम रोशन किया
  • यह साल भारत के लिए अंतरिक्ष की दुनिया में काफी चुनौतीपूर्ण रहा
  • लेकिन फिर भी इसरो ने chandrayaan-2 को चंद्रमा की सतह तक सफलतापूर्वक पहुंचाया
  • आखरी के कुछ क्षणों में chandrayaan-2 के विक्रम लैंडर का इसरो से संपर्क टूटने के बाद भी
  • देश का विश्वास नहीं टूटा और इसरो ने कई सारे सफल परीक्षण किए

Chandrayaan-2 से लेकर पीएसएलवी तक यह है बहुत सारे इसरो मिशन 2019

  • इसरो ने साल 2019 में chandrayaan-2 से लेकर पीएसएलवी ;तक कई उपग्रहों का प्रक्षेपण किया
    (1) PSLV-C44 इसरो ने साल 2019 में दो उपग्रहों का सफलतापूर्वक परीक्षण किया
  • और डीआरडीओ के पीएसएलवी सी के दो ग्रहों का भी प्रक्षेपण किया
    (2) जीसैट 31 का भी सफल प्रक्षेपण किया जो कि एक संचार उपग्रह के रूप में अंतरिक्ष में भेजा गया

Read also:असम में पुलिस ने की फायरिंग चार लोगों की मौत कांग्रेस कार्यकर्ता समेत 190 लोग गिरफ्तार

  • इसरो ने 6 फरवरी को भारत के 40 वे संचार उपग्रह जीसैट 31 का सफलतापूर्वक प्रक्षेपण किया
    (3) इसके अलावा इसरो ने अंतरिक्ष में एक साथ 29 उपग्रहों को लांच किया
  • इसरो ने 1 अप्रैल को अंतरिक्ष की दुनिया में एक और बड़ा काम किया
  • एक साथ 29 सेटेलाइट को लांच किया
    (4) इतना ही नहीं शुरु ने 22 मई को पृथ्वी की निगरानी करने वाली जासूसी सैटेलाइट RISAT-2B की सफलतापूर्वक लांचिंग की
  • जो कि पृथ्वी की निगरानी के साथ वनों जंगलों में आपदा के वक्त भी काम आएगा
    (5) इसके अलावा साल 2019 का सबसे महत्वपूर्ण मिशन जोकि
  • लगभग 2 महीने तक इस मिशन पर इसरो ने काम किया
  • और 6 सितंबर की रात को बेंगलुरु स्थित इसरो मुख्यालय से चंद्रयान की सतह तक chandrayaan-2 को पहुंचाया