महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर पीएम मोदी से मिले शरद पवार

चुनाव होने के बाद महाराष्ट्र मे सत्ता बनाने को लेकर हलचल अभी जारी है हर साल महाराष्ट्र मे भारतीय जनता पार्टी तथा शिवसेना मिलकर सरकार बनाती है लेकिन इस बार शिवसेना ने भारतीय जनता पार्टी के साथ सरकार बनाने के लिए इंकार कर दिया है शिवसेना ने भारतीय जनता पार्टी को एक शर्त रखी है कि अगर भारतीय जनता पार्टी और शिवसेना मिलकर सरकार बनाएगी तो मुख्यमंत्री शिवसेना का बनेगा लेकिन पिछले कई सालों से ऐसा नहीं हो रहा था तथा प्रधानमंत्री मोदी ने महाराष्ट्र मे की गई चुनावी रैलियों मे भी भारतीय जनता पार्टी का सीएम फडणवीस बनाने की बात कही थी|

महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर पीएम मोदी से मिले शरद पवार

 

सरकार बनाने को लेकर आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से एनसीपी के प्रमुख शरद पवार दिल्ली संसद भवन मे मिली शरद पवार तथा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गठबंधन से महाराष्ट्र में सरकार बनाने के बारे में बातचीत की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से शरद पवार की मुलाकात के पश्चात शरद पवार ने ट्वीट करके बताया कि आज मैंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ कुछ समय बिताया और उसमें कई मुद्दों पर बातें हुई शरद पवार ने बताया कि किसानों को लेकर भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात हुई तथा महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर भी अहम चर्चा की गई|

महाराष्ट्र में भारतीय जनता पार्टी को शिवसेना का साथ छूटने के बाद भारतीय जनता पार्टी महाराष्ट्र में गठबंधन करके सरकार बनाने का जबरदस्त प्रयास कर रही है|

ALSO READ :-VoLTE सर्विस क्या है? क्या होता है 4G VoLTE

एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने कांग्रेस तथा शिवसेना की उम्मीदों पर फेरा पानी

 

  • एनसीपी के प्रमुख शरद पवार कुछ दिन पहले कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से भी मिले थे
  • शरद पवार तथा सोनिया गांधी की बैठक सोमवार को महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर होनी थी
  • लेकिन मीटिंग के बाद शरद पवार ने  मीडिया को बताया कि हमारी सोनिया गांधी से सरकार बनाने को लेकर कोई मुलाकात नहीं हुई
  • सरकार बनाने के लिए और कई सहयोगियों से बात करना अभी बाकी है
  • कांग्रेस पार्टी तथा शिवसेना इस बात का इंतजार कर रही थी
  • कि शरद पवार इस मीटिंग में सरकार बनाने को लेकर कुछ बात करेंगे
  • इससे पहले एक बयान आया जिसमें इस बात का खुलासा हुआ
  •  यह तीनों पार्टियां मिलकर सरकार बनाएगी और मुख्यमंत्री शिवसेना का होगा
  • तथा कांग्रेस व एनसीपी के पास डिप्टी सीएम होगा
  • सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद शरद पवार. अपना अलग तेवर दिखा दिया|