महिला न्याय दिवस : आज पूरे देश में धूमधाम से मनाया जा रहा है।

हैदराबाद गैंग रेप और मर्डर केस के आरोपियों को एनकाउंटर में मारने के बाद आज देशभर में हंसी खुशी का माहौल छा गया है और देश में आज का दिन महिला न्याय दिवस के रूप में मनाया जा रहा है।

महिला न्याय दिवस : आज पूरे देश में धूमधाम से मनाया जा रहा है।

पूरे देश में हंसी खुशी का माहौल चल रहा है। और हर जगह से खबरें आ रही है। कि आज देश में दीपावली की तरफ उत्सव मनाया जा रहा है। क्योंकि 28-29 नवंबर की रात को एक महिला डॉक्टर के साथ गैंगरैप व मर्डर केस को अंजाम देने वाले चारों अपराधियों को पुलिस ने एनकाउंटर में मार गिराया। देशवासी हैदराबाद पुलिस की हिम्मत और जज्बे को सलाम कर रही है। क्योंकि इतने जल्द ही एनकाउंटर का फैसला लेना बहुत मुश्किल होता है। लेकिन जैसे ही आरोपी भागने लगे पुलिस ने तुरंत एनकाउंटर का फैसला लिया। और उन्हें वही मार गिराया जहां एक देश की बेटी के साथ अन्याय हुआ।

देश में हंसी खुशी का माहौल

इसी के कारण पूरे देश में हंसी खुशी का माहौल चल रहा है। लोग आपस में मिठाइयां बांट रहे हैं और मुख्य रूप से महिलाएं बहुत खुश नजर आ रही है। कहीं कहीं से खबरें यह भी आई है। कि महिलाएं और लड़कियां डांस कर रही है। महिलाओं की मांग थी कि उन अपराधियों को खुलेआम चौराहे पर फांसी दी जाए। लेकिन हैदराबाद पुलिस ने इतनी देर भी नहीं की कि कोर्ट कोई फैसला सुनाए। उससे पहले ही आज सुबह 5:00 बजे अपराधियों व पुलिस के बीच मुठभेड़ के अंदर पुलिस ने चारों अपराधियों को मार गिराया।

यह भी पढे़ :- निर्भया कांड के दोषी विनय शर्मा की दया याचिका खारिज

 एक देश की बेटी को मिला न्याय

  • आज के दिन महिला को न्याय मिला है।
  • और इस दिन को महिला न्याय दिवस के तौर पर मनाया जाएगा।
  • इसलिए आज से देश में एक और दिवस मनाना प्रारंभ हुआ है।
  • सभी महिलाओं और देशवासियों का कहना है।
  • कि आज दिशा को न्याय मिला है।
  • तो आने वाले समय में भारत के कानून और संविधान में नई दिशा देखने को मिलेगी।
  • इसी के साथ देशभर में कई शहरों से यह खबर आई है।
  • कि सभी देशवासियों आपस में मिठाइयां बांट रहे हैं।
  • और बहुत खुश नजर आ रहे हैं।क्योंकि उनकी मांग पूरी हुई है।
  • जो हैदराबाद पुलिस ने किया वह सभी को बहुत पसंद आया है।
  • और अगर देश की हर पुलिस ऐसा करना प्रारंभ कर देगी।
  • तो देश में ऐसे अपराध होना ही बंद हो जाएंगे।
  • और अपराधी भी कोई अपराध करने से पहले 7 बार सोचेगा।