इसरो की बड़ी मेहनत के बाद भी सफल नहीं हो पाया मिशन चंद्रयान 2, जानिए पूरी खबर.

0

नमस्कार दोस्तों स्वागत है। आप सभी का हमारी न्यूज़ वेबसाइट मैं और ऐसी ही नई लेटेस्ट न्यूज़ सबसे पहले पाने के लिए हमारी वेबसाइट पर बने रहे.

तो दोस्तों आपको बता दें. कि इसरो के लगभग चार-पांच सालों की मेहनत विक्रम लैंडर ने बस 20 मिनट के अंदर चूर चूर कर दी। हम आपको बता दें कि chandrayaan-2 जो कि आज सुबह 1:45 पर चांद की सतह पर पहुंचने वाला था। लेकिन वह सक्सेसफुली नही पहुंच पाया। पहुंचा तो होगा लेकिन उसकी लैंडिंग सही नहीं हो पाई। और विक्रम लेंडर शायद तक क्रेस हो गया होगा। क्योंकि 20 मिनट पहले यानी 2.1 किलोमीटर विक्रम लेंडर चंद्रमा की सतह से दूर था। तभी इसरो से कनेक्शन टूट गए थे। और कनेक्शन टूटने के बाद इसरो का कहना है कि विक्रम ने चंद्रमा पर तो पहुंचा है। लेकिन इस तरह से फेल हो जाएगा लेकिन अगर सॉफ्ट लैंडिंग हो गई तो अशोक बोल रहा है। हम वापस विक्रम लैंड रोवर से कनेक्शन जोड़ देंगे.

लेकिन आपको बता दें. कि 99.9% विक्रम लेंडर के बचने की संभावना नहीं है। क्योंकि यह घटना इसराइल जेल के साथ भी हुई थी लेकिन इसराइल तो चांद के और भी करीब पहुंच चुका था। इजरायल के स्पेस सेंटर से ब्लेंडर की 50 फीट की दूरी पर कनेक्शन टूटा था। और उसके बाद भी उनका लैंड क्रैश हो गया था। तो हमारे तो 2 किलोमीटर दूर था तो फिर कह सकते लेकिन थोड़ी देर में आपको पता चल जाएगा। कि उसकी सॉफ्ट लैंडिंग हुई या फिर हमारा लैंड क्रश हो गया।

लेकिन आपको बता दें। कि कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती और हमें इसरो का सम्मान करना चाहिए। क्योंकि इसरो ने भी बहुत कोशिश की थी चंद्रयान को सक्सेसफुली बनाने के लिए। और वैसे ही हमारा विक्रम लैंड रोवर चांद पर तो पहुंच जाएगा। चाहे वह सही सलामत हो या फिर क्रैश हुआ हुआ हो लेकिन भारत की शान तो चांद पर पहुंची जाएगी। अगर यह मिशन सक्सेसफुली नहीं रहा तो भारत सरकार और मिशन करेगी। लेकिन मेहनत करने वालों की कभी हार नहीं होती हैं। यह तो आपको भी पता होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here