मोदी सरकार का ऐलान ;1 जनवरी 2020 से जीएसटी में बड़ा बदलाव

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 1 जुलाई 2017 को गुड सर्विस टैक्स जीएसटी लगाया था जिसके बाद व्यापारियों को काफी प्रभावित किया गया जीएसटी लगने के बाद व्यापारियों पर काफी बुरा असर पड़ा और व्यापारियों ने विरोध में प्रदर्शन किया बढ़ते प्रदूषण को देखते मोदी सरकार ने जीएसटी की दरों में काफी बदलाव करके व्यापारियों व्यापारियों की अनुकूलित जीएसटी का प्रावधान किया था लेकिन अब एक बार फिर से 1 जनवरी 2020 से जीएसटी में बड़ा बदलाव होने वाला है इससे व्यापारियों पर काफी गंभीर असर पड़ेगा|

मोदी सरकार का ऐलान ;1 जनवरी 2020 से जीएसटी में बड़ा बदलाव

आने वाले साल 2020 की 1 तारीख को जीएसटी में बड़ा बदलाव किया जा रहा है 1 जनवरी 2020 से जीएसटी में बड़ा बदलाव होने वाला है इस बात का ऐलान मोदी सरकार ने कर दिया है मोदी सरकार के अनुसार जीएसटी की दरों में बढ़ोतरी की जाएगी कपड़े के व्यापारियों के लिए इसका काफी असर पड़ने वाला है कपड़े पर हाल में 5% जीएसटी लगाया जा रहा है लेकिन 1 जनवरी 2020 के बाद 10% जीएसटी कपड़े व्यापारियों को देना होगा मोदी सरकार की इस बदलाव के बाद सभी क्षेत्र में जीएसटी की दरों में बढ़ोतरी होगी गिरती अर्थव्यवस्था को लेकर जीएसटी दरों को बढ़ाया जा रहा है मोदी सरकार के इस कदम पर व्यापारी काफी नाखुश है और 1 जनवरी 2020 के बाद केंद्र सरकार के इस फैसले पर विरोध प्रदर्शन भी हो सकता है|

read also ; Jharkhand election 2019 राहुल गांधी ने ओबीसी को 27% आरक्षण देने का वादा

जीएसटी क्या है और इसे कब लगाया गया

  • जीएसटी का पूरा नाम गुड्स सर्विस टैक्स है
  • जिसे केंद्र सरकार द्वारा 1 जुलाई 2017 को लगाया गया था
  • जीएसटी पूरे देश भर में सभी पदार्थों के ऊपर लगाया जा रहा है
  • इसमें कुछ पदार्थ नील टैक्सेबल जीएसटी के अंतर्गत की आते हैं जिस पर 0% जीएसटी लगता है
  • इसके अलावा कई ऐसे पदार्थ है जो घातक साबित हो उन पर से भी लगाया जा रहा है
  • जीएसटी की दरें 1 जुलाई 2017 को काफी ऊंची थी
  • जिसका विरोध प्रदर्शन होने के बाद केंद्र सरकार ने इस में हल्का बदलाव किया था|
  • जीएसटी से पहले कई प्रकार की टेस्ट लगते थे लेकिन ;1 जुलाई 2017 को जीएसटी लागू होने के बाद पूरे देश भर में सिर्फ एक ही टैक्स गुड सर्विस टैक्स लगना शुरू हुआ|