नागरिकता संशोधन बिल केंद्रीय कैबिनेट से हुआ पास

एसपीजी सुरक्षा, तीन तलाक ,और धारा 370 के हटने के बाद मोदी सरकार केंद्रीय मंत्रिमंडल से एक  और नागरिकता संशोधन बिल को पास करा ली है ! अब इसे लोकसभा संसद और राज्यसभा संसद से पारित कराना है !

नागरिकता संशोधन बिल केंद्रीय कैबिनेट से हुआ पास

  • बुधवार को हुई बैठक में गृह मंत्री अमित शाह ने केंद्रीय कैबिनेट मंत्री से बैठक की
  • और नागरिकता संशोधन(citizen amendment Bill 2019)
  • और डाटा प्रोटक्शन बिल(personal data protection bill 2019) से लेकर: कई महत्वपूर्ण बिल को केंद्रीय कैबिनेट से पारित कर दिया गया है
  • नागरिकता संशोधन बिल संसद से पास होने के बाद पाकिस्तान बांग्लादेश व
  • अफगानिस्तान के गैरशरणार्थी मुस्लिम भी भारत की नागरिकता प्राप्त कर सकेंगे
  • इसके लिए गृह मंत्री अमित शाह ने सभी सांसदों को चुनौती दी
  • कहा नागरिकता संशोधन बिल धारा 370 जितना ही महत्वपूर्ण है
  • तथा इस दौरान सभी सांसदों को सदन में मौजूद रहना अनिवार्य है!

Read also: हैदराबाद गैंगरेप के विरोध प्रदर्शन में 5 दिसंबर भारत बंद

इस बिल पर भी लगी मुहर

 

नागरिकता संशोधन के बाद सरकार ने डाटा प्रोटेक्शन बिल पर भी मोहर लगाई!
इसके अलावा संस्कृत भाषा को आगे बढ़ाने के लिए भी केंद्रीय कैबिनेट ने मंजूरी दे दी है

इसके लिए देश में तीन नए विश्वविद्यालय खोले जाएंगे!
अलावा दिल्ली में स्थित प्रगति मैदान में फाइव स्टार होटल बनाने के लिए लैंड को मंजूरी दे दी गई है!
कैबिनेट ने भारत बॉन्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड को भी मंजूरी दे दी गई है!

यह सब सारे विधेयक इसी सत्र में पास होने के लिए अमित शाह ने इसके लिए लगभग 100 घंटे की महत्वपूर्ण बैठक की है!इसके साथ ही रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि संसद में सांसदों के मौजूद न रहने पर उनकी गैरमौजूदगी खटकती है! इसके अलावा रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने उन सभी आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि नागरिकता संशोधन बिल उन सभी के लिए है जो भी शरणार्थी हैं इसमें हमारे पड़ोसी तीन देश पाकिस्तान बांग्लादेश और अफगानिस्तान के लोग हैं!