नागरिकता संशोधन कानून का विरोध प्रदर्शन जारी; दिल्ली तथा उत्तर प्रदेश कई गाड़ियां फुकीं

 

नागरिकता संशोधन कानून के लिए जब से भारत के गृह मंत्री अमित शाह केंद्रीय कैबिनेट में जब लाए थे तब से धीरे-धीरे विरोध प्रदर्शन हुआआज के विरोध प्रदर्शन इतना विकराल हो गया देश की सुरक्षा करने वाली पुलिस भी सुरक्षित नहीं है नागरिकता संशोधन कानून का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारी पुलिस को भी नहीं छोड़ रहे हैं पुलिस वालों पर पथराव किया जा रहा है पुलिस की गाड़ियां में कई जगह तोड़फोड़ हुई है साथ ही कई सार्वजनिक गाड़ियों में आग लगा दी गई अधिक संपत्ति को बड़ी मात्रा में नुकसान पहुंचाया गया

नागरिकता संशोधन कानून का विरोध प्रदर्शन जारी दिल्ली तथा उत्तर प्रदेश कई गाड़ियां फुकीं

  • देश के कई इलाकों में इस कानून का विरोध जताया जा रहा है
  • देश के 12 से अधिक जिले इस विरोध प्रदर्शन से प्रभावित हैं
  • दिल्ली में आज भी मेट्रो स्टेशन बंद रहेंगे यूपी में विरोध  को बढ़ता देख इंटरनेट तथा कॉलिंग की सुविधाओं को बंद कर दिया
  • साथ ही पूरे उत्तर प्रदेश में धारा 144 लगाई गई है
  • उत्तर प्रदेश में सार्वजनिक बस में आग लगाने से 15+ लोगों की मौत हो गई
  • गुजरात में हुए हिंसक प्रदर्शन में कई पुलिसकर्मी घायल हुए
  • मैंगलोर मैं प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पथराव किया
  • जवाब में पुलिस ने फायरिंग की जिसके दौरान दो लोगों की मौत हो गई
  • नागरिकता संशोधन कानून का विरोध मौत का रूप ले रहा है
  • लगभग 15 – 20 दिन हो चुके हैं लेकिन अभी तक यह विरोध बढ़ता जा रहा है
  • रुकने का नाम नहीं ले रहा और आए दिन कहीं न कहीं किसी न किसी की जान चली जाती है

READ ALSO ; ISL 2019-2020: Chennaiyin FC ने केरल ब्लास्टर्स को 3-1 से हराया

सिर्फ अफवाह में हो रहा विरोध लोगों को पता ही नहीं कि क्या है एनआरसी और क्या है ये

नागरिकता संशोधन कानून का विरोध करते प्रदर्शनकारी को यह भी पता नहीं है एनआरसी क्या है और क्या है एक के बाद एक झूठी अफवाहों के कारण यह सब विरोध प्रदर्शन बढ़ता जा रहा है लोग विरोध प्रदर्शन में तो उतर गए लेकिन ज्यादातर लोग तो यह जानते हैं कि एनआरसी लागू हो चुका है इसलिए विरोध किया जा रहा है और कई लोगों को पता नहीं है कि कौन सा बिल आया है जिसकी वजह से यह विरोध हो रहा है लेकिन सिर्फ विरोध और पत्थरबाजी किए जा रहे हैं