नासा ने खोज निकाला chandrayaan-2 के विक्रम लैंडर का मलबा दिखाई तस्वीरें

नासा ने खोज निकाला chandrayaan-2 के विक्रम लैंडर का मलबा दिखाई तस्वीरें | अमेरिकी स्पेस सेंटर नासा ने 7 सितंबर को हुए chandrayaan-2 के विक्रम लैंडर का मलबा लैंड साइड से लगभग 750 मीटर दूरी पर खोज निकाला है नासा का दावा है

 नासा ने खोज निकाला chandrayaan-2 के विक्रम लैंडर का मलबा दिखाई तस्वीरें

  • ऑर्बिटर लूनर रेकानसेंस ऑर्बिटर(LRO) ने रात लगभग 1:30 पर विक्रम
  • लेंडर के मलबे को खोज निकाला है यह मलबा क्रैश साइड से लगभग 750
  • मीटर दूरी पर मिला है मलबे के 3 सबसे बड़े टुकड़े मिले हैं नासा ने यह जानकारी
  • अपने ट्विटर अकाउंट से ट्वीट करके बताई है नासा ने एक तस्वीर
  • जारी की जिसमें नीले और हरे रंग की डांट से मलबे वाला क्षेत्र दिखाया है

7 सितंबर को टूटा था विक्रम लेंडर से संपर्क::–

(1) chandrayaan-2 के विक्रम ब्लेंडर का संपर्क 7 सितंबर की रात इसरो मुख्यालय से टूट गया था
(2) लगभग 2.1 किलोमीटर दूरी से टूटा था विक्रम लेंडर का संपर्क
(3) प्रधानमंत्री ने बधाई देते हुए बढ़ाया था हौसला
(4) दुनिया के वैज्ञानिकों का कहना था की इसरो का चंद्रयान 2 मिशन फेल नहीं हुआ है

also read :-विक्रम लेंंडर का मलबा : चेन्नई के मैकेनिकल इंजीनियर की  मदद से नासा ने विक्रम लेंडर का मलबा ढुँढ लिया।

-NASA ने किया था दावा::-

26 सितंबर की रात chandrayaan-2 के विक्रम लेंडर के क्रैश होने का दावा किया था

उसके बाद से ही उसने अपने एलआरओ ऑर्बिटल को चांद की सतह पर छोड़ दिया था

और फिर इतने दिनों बाद उन्होंने chandrayaan-2 के मलबे को खोज निकाला

इससे पहले इसरो ने भी chandrayaan-2 के विक्रम लेंडर की तस्वीर को दिखाया

था लेकिन सही आनुमान ना होने के कारण विक्रम लेंडर की खोज नहीं हो सकी थी

लेकिन अब नासा का दावा है कि उन्होंने अपने ऑर्बिटल की सहायता से chandrayaan-2

के विक्रम लैंडर का पता लगा लिया है नासा के वैज्ञानिकों का भी दावा था कि यह एक सफल मिशन था

आखरी कुछ दूरी रहने पर विक्रम लेंडर का संपर्क इसरो मुख्यालय से टूट गया था तब

से वैज्ञानिकों ने इसका संपर्क टूटने का कारण खोज रहे हैं

“” NASA ने खोज निकालना विक्रम लैंडर का पता यह जानकारी नासा ने खुद Tweet करके दी””