निर्भया सामूहिक गैंगरेप के दोषी पवन ने लगाई याचिका:- बोला; घटना के समय था नाबालिग

 

निर्भया सामूहिक गैंगरेप और उसके बाद हत्या मामले में जिम चारों आरोपियों को सजा मिल चुकी है उनमें से एक आरोपी पवन गुप्ता ने बुधवार को दिल्ली हाईकोर्ट में अपने बचाव के लिए और याचिका दाखिल की है इससे पहले हाईकोर्ट तथा सुप्रीम कोर्ट कई बार इन की दया याचिका को खारिज कर चुका है हाल कल बुधवार को रहम चिका को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज किया है लेकिन फिर भी एक के बाद एक नया याचिका लगाई जा रहे हैं इससे पहले राष्ट्रपति को विनय शर्मा ने दया याचिका भेजी थी जिसे भी राष्ट्रपति ने खारिज किया है पवन की इस याचिका पर आज गुरुवार को सुनवाई होगी

निर्भया सामूहिक गैंगरेप के दोषी पवन ने लगाई याचिका बोला घटना के समय था नाबालिग

  • दिल्ली में आज से 12 साल पहले हुए निर्भया सामूहिक गैंगरेप में कुल 6 आरोपी थे
  • जिसमें से एक आरोपी नाबालिग था जिसे सुप्रीम कोर्ट ने बरी कर दिया
  • और एक आरोपी रामसिंह जिसने तिहाड़ जेल में खुद को फांसी लगा दी
  • चारों आरोपियों को सुप्रीम कोर्ट द्वारा सजा मिल चुकी है
  • लेकिन फिर भी आरोपी बचने के लिए लगातार दया याचिका कभी हाईकोर्ट में तो कभी सुप्रीम कोर्ट में लगाए जा रहे हैं
  • इन चारों आरोपियों की याचिकाओं को लगातार खारिज किया जा रहा है
  • लेकिन यह आरोपी सजा से बचने के लिए कोई न कोई तरीका निकालने में जुटे हुए हैं|

read also ; 2020 की हॉलीवुड-बॉलीवुड फ़िल्में : इन पांच फिल्मों में होगी जबरदस्त टक्कर

निर्भया के दोषी पवन गुप्ता ने किया यह दावा

  • दिल्ली के एक बड़े कांड के दोषी पवन गुप्ता जिन्होंने; आज से 7 साल पहले निर्भया सामूहिक गैंगरेप जैसी घटना को अंजाम दिया
  • अब सजा मिलने पर अपने आप को नाबालिग बताने का प्रयास कर रहा है
  • गैंगरेप तथा हत्या के मामले में सुप्रीम कोर्ट द्वारा चारों दोषियों को सजा मिल चुकी है
  • इसमें से एक अपराधी पवन गुप्ता ने दिल्ली हाई कोर्ट में बचाव याचिका दाखिल की जिसमें लिखा है
  • कि साल 2012 जिस समय यह घटना हुई उस समय में नाबालिग था
  • हाईकोर्ट ने इसका गलत उपयोग किया और ट्रायल कोर्ट ने गलत तरीके से उसके खिलाफ काम किया था.
  • इस मामले में गुरुवार को सुनवाई होगी.

निर्भया गैंग रेप केस के चारों अपराधियों को पटियाला हाउस कोर्ट ने बुधवार को सुनवाई के दौरान 7 जनवरी तक का समय दिया है