पश्चिम बंगाल विधानसभा पर ताला देखकर जगदीप धनकड़ हुए नाराज शुरू किया धरना।

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने पश्चिम बंगाल विधानसभा के दरवाजों पर ताले देखकर हुए नाराज अब शुरू किया धरना प्रदर्शन

पश्चिम बंगाल विधानसभा पर ताला देखकर जगदीप धनकड़ हुए नाराज शुरू किया धरना।

कोलकाता (INDnewsTv) : पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनकड़ गुरुवार को नाराज हो उठे थे। जब पूर्व घोषित कार्यक्रम के तहत राज्य विधानसभा भवन पहुंचने पर उन्हें पश्चिम बंगाल विधानसभा के दरवाजों पर ताला लगा मिला। संसद को संबोधित करते और अन्य विशेष मौकों पर जब राज्यपाल विधानसभा जाते हैं। तो उनके लिए निर्धारित खास गेट परंपरागत रूप से खुले होते हैं। लेकिन गुरुवार को इन गेट पर लगाए हुए थे। राज्यपाल बंद गेट के सामने कुछ देर खड़े रहने के बाद दूसरे गेट से चलकर विधानसभा के अंदर पहुंचे। राज्यपाल को नाराजगी इस बात की है कि उनके आने की सूचना होने के बावजूद भी विधानसभा पर ताले क्यों लगाए गए थे

यह भी पढे़ :- उन्नाव गैंगरेप में पीड़िता को ग्रीन कोरी डोर बनाकर दिल्ली अस्पताल पहुंचाया गया

जगदीश धनखड़ का अपमान

  • इस दौरान राज्यपाल ने कहा कि पश्चिम बंगाल में ऐसे गणतंत्र नहीं चलेगा।
  • यह उनका अपमान है। राज्य में कई मौकों पर उनका अपमान किया गया है।
  • और यह एक साजिश है। नाम नहीं लेते हुए उन्होंने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की ओर इसारा किया।
  • इस दौरान राज्यपाल ने फाटक बंद होने को लेकर सवाल भी उठाए।
  • राज्यपाल का यह दौरा विधानसभा अध्यक्ष बिमान बनर्जी मंगलवार को सदन की कार्यवाही
  • 2 दिनों के लिए स्थगित किए जाने की भूतपूर्व कार्य के बाद हुआ।
  • बनर्जी ने कहा कि सदस्यों के सामने पेश किए
  • जाने वाले विधायकों कॉपी यह धनकड़ की मंजूरी नहीं मिली है।
  • पश्चिम बंगाल विधानसभा की घोषणा के बाद राजभवन ने
  • किसी भी प्रकार की देरी की बात को खारिज कर दिया।
  • और कहा कि लंबित संबंधित विभाग में मिले अधूरे इनपुट प्रतिक्रिया के कारण लंबित है।

इतनी छोटी सी बात को लेकर पश्चिम बंगाल के राज्यपाल धरने पर बैठ गए हैं। उनका कहना है कि उनके साथ अपमान हुआ है। और पश्चिम बंगाल में के साथ और भी कई बार अपमान किया गया है।