पुलिस और छात्रों के बीच जबरदस्त मुठभेड़ ,यूनिवर्सिटी को बनाया युद्ध का मैदान: हांगकांग

 

 

हांगकांग में पॉलिटेक्निकल यूनिवर्सिटी पुलिस और छात्रों के बीच हुई जबरदस्त मुठभेड़ मुठभेड़ में कई छात्र तथा पुलिसकर्मी घायल हुए तथा कई लोगों को गंभीर चोटें भी आई

पुलिस और छात्रों के बीच जबरदस्त दस्त मुठभेड़ ,यूनिवर्सिटी को बनाया युद्ध का मैदान

पुलिस और छात्रों के बीच जबरदस्त दस्त मुठभेड़ ,यूनिवर्सिटी को बनाया युद्ध का मैदान

  • हांगकांग में पॉलिटिकल यूनिवर्सिटी ऑफ चाइना पर छात्रों ने कब्जा कर लिया था|
  • पुलिस ने छात्रों से रिक्वेस्ट की कि वह यूनिवर्सिटी से चले जाए
  • लेकिन पुलिस की जबरदस्त प्रयास के बावजूद भी छात्रों ने पॉलिटिकल यूनिवर्सिटी ऑफ चाइना से कब्जा नहीं हटाया
  • पुलिस ने छात्रों को कई बार समझाने का प्रयास किया लेकिन छात्र नहीं माने|
  • छात्रों ने रात भर तक यूनिवर्सिटी पर कब्जा रखा तथा पुलिस बाहर खड़ी रही

Read also :महाराष्ट्र में सरकार बनने के बाद कांग्रेस तथा शिव सेना भड़की

  • जैसे ही पुलिस अंदर आने का प्रयास करती तो छात्र पुलिस वालों पर टूट पड़ते कोई पत्थर बरसाते तो कोई तीर चलाते
  • ऐसे में पुलिसकर्मी को वापस जाना पड़ता| कॉलेज को चारों तरफ से पुलिस ने घेर लिया था
  • पुलिस के साथ कई सुरक्षा बलों की टीमें भी मौजूद थी|

छात्रों ने ऐसे किया पुलिस पर वार

  • पुलिस को नजदीक आते देख छात्रों ने पत्थरबाजी शुरू कर दी
  • पूरी रात प्रयास के बावजूद पुलिस छात्रों का कुछ भी नहीं बिगड़ पाई
  • कॉलेज के अंदर बैठे छात्र गुलेल से पुलिस पर पत्थरबाजी करना शुरू कर दी
  • तथा बाद में तो छात्रों ने हद ही पार कर दी बोतलों में पेट्रोल डालकर पेट्रोल बम बना कर पुलिस की गाड़ियों पर हमला करना शुरू किया
  • मामला बिगड़ते देख पुलिस ने अश्रु गैस के गोले डाले
  • छात्रों पर लाठीचार्ज किया मुठभेड़ में कई छात्र तथा पुलिस अधिकारी घायल हुए|
  • पुलिस ने कई छात्रों को हिरासत में लिया है
  • पुलिस ने छात्रों को पकड़ता ही उन्हें सड़क पर लिटा कर पहले हथकड़ी लगाई गिरफ्तार करते दौरान कई छात्रों ने विरोध किया
  • लेकिन पुलिस वालों ने जबरदस्ती हथकड़ी लगाकर उन्हें घसीटते हुए हिरासत में ले लिया|

छात्रों तथा पुलिस का युद्ध रात भर चलता रहा हालात बिगड़ते देख पुलिस ने आंसू गैस के गोले डालकर कॉलेज के अंदर प्रवेश किया और छात्राओं को वहां से भगाने के लिए लाठीचार्ज तथा आंसू गैस के गोलों का इस्तेमाल किया| छात्रों ने मुंह पर मास्क पहन रखा था तथा हाथ में छाता लेकर अपना बचाव करते दिखे