रावतसर कृषि उपज मंडी खुलने पर लागू होंगे, ये नए नियम

हनुमानगढ़ : देश में चल रहे लॉकडाउन के कारण किसानों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ है. खेतों में रबी की फसलें पककर तैयार है, कुछ किसानों ने गेहूं , सरसों , चना की फसलें काट कर निकाल ली है तो कुछ फसल की कटाई कर निकालने की तैयारी में लगे है. जिसके बाद उसे बाजार में बेचा जाना है परतुं देश में लॉकडाउन के चलते सरकार के आदेशों से मार्च से ही अनाज मंडियों को बंद कर दिया गया था , जिसे लेकर अभी नये अपडेटस आये है . जिले की रावतसर कृषि उपज मंडी लॉक डाउन में किसानों की सहूलियत के लिए खोलने पर नए नियमों को लागू किया जाएगा जिसकी जानकारी हमें मंडी सचिव द्वारा प्राप्त हुई है।

रावतसर कृषि उपज मंडी न्यू अपडेट

किसानों की फसल पककर तैयार हो चुकी है और कस्बे में सरसों व जौ की कटाई भी कुछ हद तक पूर्ण हो चुकी है एवं गेहूं की फसल भी चंद दिनों में निकलने वाली है जिसको ध्यान में रखते हुए रावतसर कृषि उपज मंडी खोलने पर नए नियमों को लागू करने की संभावना जताई जा रही है।

कृषि उपज मंडी के सचिव महोदय के साथ रविवार दिनांक 12 अप्रेल 2020 को मंडी के व्यापारियों की बैठक होगी जिसमें मंडी को खोलने वह जिंसों के करी अभिक्रिया के संबंध में विचार विमर्श किया जाएगा और नए नियमों को आदर सहित पालन करने का सचिव महोदय द्वारा प्रस्ताव रखा जाएगा।

कृषि उपज मंडी खुलने व जिंसों की नीलामी पर लागू होने वाले नियमों की सूची :-

  • इन नए नियमों के अनुसार प्रत्येक फर्म के लिए एक मालिक का पास और एक मुनीम का पास जारी किया जाएगा कहने का मतलब अनुज्ञापत्रधारी दुकानदार को एक स्वयं और एक सहायक व्यक्ति का पास दिया जाएगा।
  • एक दुकान को चार हम्माल एवं एक तोला का पास मिलेगा।
  • खरीददार यानी कि जो किसान की फसल की बोली लगाते हैं उनको अधिकतम एक स्वयं और पांच मजदूरों का पास मिलेगा।
  • अनुमत दुकान को 200 क्विंटल जींस या 3 किसानों तक जो भी कम हो की अनुमति मिलेगी।
  • आमंत्रित किसानों के दस्तावेज दुकानदार उपलब्ध करवाकर एक किसान व एक सहयोगी के लिए पास जारी किए जाएंगे।
  • व्यापारी और अनुज्ञापत्रधारी को सभी आईडी में सब के मोबाइल नंबर संग्लन कर लेटर पैड पर लिख कर कार्यालय में अनुमति दिनांक से दो दिवस पूर्व आवश्यक रूप से भिजवा ना होगा एवं संबंधित दुकानदार को ही पास उपलब्ध करवाया जाएगा जो आगे वितरित करेगा।

मंडी व्यापारियों को पास बनवाने के लिए आवश्यक दस्तावेज

किसान, व्यापारी और तौला का पास बनवाने के लिए अनुज्ञापत्रधारी दुकानदार को फर्म के नाम से लेटर पैड और निम्न वर्ग की एक वैध पहचान (आधार कार्ड , पहचान पत्र , ड्राइविंग लाइसेंस आदि) देना होगा:-

  1. दुकान का प्रोपराइटर या भागीदार
  2. मुनीम या दुकानदार का सहयोगी
  3. हम्माल
  4. तौला
  5. किसान
  6. किसान का सहयोगी

किसानों की जानकारी के लिए बता दें एक दुकान पर 1 दिन में अधिकतम 3 ही किसान अपनी फसल बेच सकेंगे और उन किसानों को अपने आढ़तिये से पास प्राप्त करना होगा फसल लाने से 2 दिन पहले। ध्यान देने योग्य बात यह है कि जो पास आढ़तिया प्राप्त करवाएगए या कहें किसानों को देगा वह पास सिर्फ मंडी का पास होगा उसके अलावा अपने घर से मंडी तक जाने के लिए किसान को सरकार द्वारा चलाई गई ऑनलाइन अनुमति पास सेवा द्वारा परमिशन लेनी होगी जिसकी पूरी जानकारी आपको नीचे दिए गए लिंक में दी गई है।

यहां से देखें : किसान मंडी में जाने के लिए वाहन का अनुमति पास ऑनलाइन कैसे लेवें।

Leave a Comment