RISAT2- BR1 सैटेलाइट हुआ लॉन्च, देखिए इसकी खासियत.

आज 3 बजे RISAT2- BR1 सैटेलाइट को भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ने आज 3 बज श्रीहरिकोटा सतीश पवन लांच पेड़ से लांच किया। उपग्रह भारत को खुफिया जानकारी देने में मदद करेगा।

RISAT2- BR1  सैटेलाइट हुआ लॉन्च, देखिए इसकी खासियत।

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन इसरो ने आज दोपहर 3 बजे अपना एक नया उपग्रह लांच किया है। इस उपग्रह के अंदर अनोखी खासियत है। जो पहले किसी भी उपग्रह में नहीं थी। इस उपग्रह के जरिए किसी भी मौसम में और किसी भी वातावरण में अंतरिक्ष से साफ तस्वीर खींची जा सकती है। और यह उपग्रह मुख्य रूप से जनक होने वाले हमलों के लिए सावधान करने में कामयाब है।

RISAT2- BR1 सैटेलाइट

अब आपको भारत के खुफिया उपग्रह के बारे में जानकारी दे देते हैं। आपको बता दें कि RISAT2- BR1 सैटेलाइट के पृथ्‍वी की कक्षा में स्‍थापित होने के बाद भारत की राडार इमेजिंग ताकत कई गुना बढ़ जाएगी। स्‍थापित होने के साथ ही यह उपग्रह काम करना शुरू कर देगा। कुछ देर बाद ही इससे तस्‍वीरें मिलनी शुरू हो जाएंगी। इसके साथ ही भारतीय सीमाओं की निगरानी करना और उनकी सुरक्षा को अभेद्य बनाने की प्‍लानिंग का काम भी बेहद मजबूती से किया जा सकेगा। इस उपग्रह की सबसे बड़ी खासियत यही है कि इसकी निगाह से दुश्‍मन बच नहीं सकेगा।

India Vs west indies 3rd T20 ; वॉशिंगटन सुंदर की जगह कुलदीप यादव को मिली जगह

किसी भी मौसम में बेहद साफ चित्र

आपको यहां पर ये भी बता दें कि यह उपग्रह किसी भी मौसम में बेहद साफ चित्र ले सकेगा। इतना ही नहीं बादलों की मौजूदगी में भी दुश्‍मन की गतिविधियां इसकी पैनी नजरों से बच नहीं सकेंगी। इसरो द्वारा बनाई गई इस सैटेलाइट की कृषि, जंगल और आपदाओं के दौरान भी भरपूर मदद मिल सकेगी। रीसैट-2बीआर1 उपग्रह 628 किलोग्राम वजनी है। इसको पृथ्वी की कक्षा से 576 किलोमीटर ऊपर स्थापित किया जाएगा।

डिफेंस इंटेलिजेंस सेंसर

  • 26/11 मुंबई हमले के बाद RISAT-2 सैटेलाइट को भारत ने लॉन्‍च किया था।
  • सीमाओं की रक्षा खासतौर पर समुद्री सीमाओं की निगरानी में इस सैटेलाइट ने काफी सराहनीय काम किया है।
  • इसकी वजह से सीमाओं की फास्‍ट ट्रैक मॉनिटरिंग करना संभव हो पाया था।
  • इससे पहले लॉन्‍च किए गए रीसैट-1 सैटेलाइट की सीमाएं काफी हद तक सीमित थीं।
  • RISAT2- BR1 सैटेलाइट में लगने वाले डिफेंस इंटेलिजेंस सेंसर को भारत में ही बनाया गया है।
  • इसमें मौजूद एक्‍स बैंड एसएआर कैपेबिलिटी की वजह से ही यह उपग्रह हर मौसम में साफ तस्‍वीरें ले सकेगा।
  • फिर चाहे रात का अंधियारा ही क्‍यों न हो।

आतंकी जमावड़े की मिलेगी सही जानकारी

  • इस सैटेलाइट से किसी भी खास इलाके की बेहद साफ तस्‍वीरें ली जा सकेंगी।
  • करीब सौ किमी के इलाके की यह तस्‍वीरें लेकर जमीन पर भेजेगा
  • जहां पर इन तस्‍वीरों का विश्‍लेषण किया जा सकेगा।
  • इसको खासतौर पर सीमाओं  पर खासतौर पर पाकिस्‍तान की तरफ से होने वाली
  • घुसपैठ को रोकने के लिए तैयार किया गया है।
  • यह उपग्रह भारतीय सीमा के पार हो रहे आतंकी जमावड़े की भी सही जानकारी देने में सहायक साबित होगा।
  • पीएसएलवी का यह 50वां लॉन्‍च है।