कोरोना की मार जीवन का सार – कविता

Best Hindi Poem on corona इतिहास के पन्नों मे कुछ उलट फेर हो रही है…वक़्त करवट ले रहा है, एक नई भोर हो रही है…दौड़ती थी जिंदगी जिस रोटी के नाम…सुना है उस रोटी मे भी आजकल देर अबेर हो … आगे पूरी खबर पढ़ें