प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण से जुड़ी यह अहम बातें सरदार सरोवर बांध से किया संबोधित

आज गुजरात में नमामि देवी नर्मदा समारोह का आयोजन किया गया इस समारोह पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूजा अर्चना की तथा यह समारोह 17 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिवस पर रखा गया प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नर्मदा नदी से जुड़ी कई बातों पर विचार विमर्श किया तथा सरदार सरोवर बांध पर पूजा अर्चना की.

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण से जुड़ी यह बातें:-

-नर्मदा नदी बांध परियोजना के द्वारा मध्य प्रदेश गुजरात राजस्थान महाराष्ट्र को लाभ मिलेगा.

– पर्यावरण की रक्षा करते हुए विकास हो सकता है प्रकृति हमारा कहना है

और प्रकृति की रक्षा करते हुए विकास केवड़िया में स्पष्ट देखने को मिल रहा है.

– केवडिया में प्रकृति और विकास का एक विशिष्ट तालमेल है.

– केवड़िया में एकता नर्सरी, बटरफ्लाई गार्डन ,सरदार वल्लभ भाई पटेल की विशाल प्रतिमा ,विद्युत उत्पादन के तकनीकी साधन तथा सरदार सरोवर बांध यह एक अनोखा संगम है.

– केवड़िया में प्रकृति पर्यावरण और पर्यटन का एक विशेष संगम बन रहा है.

– आज विश्वकर्मा जयंती है 17 सितंबर को विश्वकर्मा जयंती के रूप में मनाया जाता है

भगवान विश्वकर्मा का आशीर्वाद हम पर सदा बना रहे.

– सरदार वल्लभ भाई पटेल की विशाल प्रतिमा और सरदार सरोवर बांध इच्छा शक्ति के प्रतीक हैं.

– सरदार वल्लभभाई पटेल का आशीर्वाद बना रहे जिससे नए भारत के संकल्प पूरे हो सकेंगे.

 

– नर्मदा मां के पानी से आज कच्छ और स्वराष्ट्र भी सिंचाई कर रहा है कच्छ और सौराष्ट्र मैं नर्मदा का पानी पहुंच चुका है.

–  साल 2000 में गर्मी में राजकोट और जामनगर में लोगों को जल पूर्ति के लिए स्पेशल वाटर ट्रेन चलाने की नौबत आई थी लेकिन आज पूरा गुजरात ऐसी समस्या से दूर है़.

READA ALSO ;प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जीवन से जुड़ी यह 25 रोचक बातें, जानिए

– गीते सत्रह अठारह सालों से गुजरात में सिंचाई की जमीन दोगुनी हो चुकी है.

– पिछले कई सालों से सिंचाई के साधनों पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है पूरे गुजरात में बूंद बूंद विधि लाई गई जिससे जल बचाया गया और सिंचाई से उत्पादन बढ़ाने में मदद मिली.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  की   ऐतिहासिक  अहम बातें

– 1200000 किसान परिवार आज के दिन सिंचाई का लाभ उठा रहे हैं.

– माइक्रो इरिगेशन के कारण गुजरात में 50% तक पानी की बचत हो पाई है

40% तक मजदूर खर्च कम हुआ है तथा बिजली खर्च भी काफी कम हुई है साथ ही 30% तक उत्पादन में भी बढ़ोतरी हुई है.

– गुजरात में 71% घरों तक पानी पहुंचाया गया रुपाणी की सरकार के द्वार पर घर-घर पानी पहुंचाने की योजना को बढ़ोतरी दी गई.

– छोटे किसान छोटे व्यापारी तथा छोटे स्तर वाले आम व्यक्तियों को पेंशन की शुरुआत की गई.

– समुद्री ट्रांसपोर्ट बनने की वजह से गुजरात के लोगों को काफी फायदा हुआ है

ट्रक से 350 किलोमीटर चलने की बजाय समुद्र के रास्ते 31 किलोमीटर की यात्रा ही करनी होती है

समुद्री ट्रांसपोर्ट मुंबई से हजीरा तक लाने का काम जल्द शुरू होगा.

– केवड़िया में मात्र 11 माह में 23 लाख से ज्यादा पर्यटक सरदार सरोवर बांध पर आ चुके हैं

यहां पर रोजाना आठ हजार से ज्यादा पर्यटक आते हैं

और जन्माष्टमी के दिन 34000 पर्यटक भी 1 दिन आकर विश्व रिकॉर्ड बनाया है.

– 17 सितंबर को विश्वकर्मा दिवस के रूप में मनाया जाता है

तथा 17 सितंबर का दूसरा महत्व सरदार वल्लभभाई पटेल की भारत की एकता को लेकर प्रयास भी किए गए थे

उनका यह स्वर्णिम दिवस है.

– 17 सितंबर हैदराबाद मुक्ति दिवस के रूप में भी मनाया जाता है

17 सितंबर 1948 को हैदराबाद भारत में विलय हुआ था

और आज हैदराबाद पूरे रूप से देश चलाने में मदद कर रहा है.

 

Leave a Comment